दूर की सोच सफलता के लिए क्यो जरूरी है और क्या है इसके फायदे

आइये जानते हैं दूर की सोच रखने के फायदे के बारे में:~ इंसान की सोच उसके जीवन में बहुत अहम रोल निभाती है, क्योकि जैसी हमारी सोच होती है वैसी ही हमारी भावनाए होती, जिस तरह की भावनाए होती है उसी तरह का व्यवहार होता है । जिस प्रकार का व्यवहार होता है उसी तरह ही आदतें होती और जिस तरह की आदतें होती है, उसी तरह का चरित्र होता है।

और आपको हमें ये बताने की जरूरत नही है कि चरित्र जीवन में सफल होने के लिए कितना जरूरी है। राल्फ वाल्डो इमर्सन नें कहा था जो आप पुरे दिन सोचते रहते हैं वही बन जाते हैं । महात्मा बुध्द कहा करते थे की जो आप आज हैं वो आपके कल के विचारों का परिणाम है ।

तो आप विचारों की शक्ति को अपनी लाइफ से नकार नही सकते । लेकिन सही सोचने का मतलब ये नही है की आपको केवल सकारात्मक सोचना चाहिए, सकारात्मक सोचने का अपना अलग महत्व है लेकिन हर जगह एक ही Principal को लागू नही किया जा सकता ।

For example किसी व्यक्ति को शराब की लत है वो अपनी इस बुरी लत को छोड़ना चहाता है । लेकिन हर बार किसी न किसी वजह से शराब पी लेता है वो जब भी शराब पीता है तो उसें कुछ समय के लिए बुरा लगता है लेकिन वो खुदसे सकारात्मक सोच के द्वारा ये समझा लेता है की एक बार शराब पीने से कुछ नही होगा बल्कि मेने अपनी हार से कुछ जरूरी Lesson सीखे हैं ।

जिसके कारण बार-बार हारने के लिए उसे हारने का बहाना मिल जाता है और धीरे-धीरे जो ग्लानी की भावना थी वो भी उसके अन्दर से खत्म हो जाती है । अगर वो अपनी हार से कुछ सीखता और Positive thinking रखते हुए उसे अपनी लाइफ में Aply करता तो उसकी दोबारा हार होती ही नही । लेकिन उसके साथ आपको अपने व्यवहार की Long-term पिक्चर भी देखनना आना चाहिए ।

अगर आप सकारात्मक सोचने के साथ दूर की सोच भी रखते हैं तो इससे आपकी वर्तमान में सही फैसले लेने की क्षमता बढ़ जाएगी । अपनी सोच की गुणवक्ता मापने का सबसे अच्छा तरीका है अपनी वर्तमान की जिंदगी को देखना, क्योकि आज जो हमारी जिंदगी है वो हमारे पुराने फैसलों का ही निचोड़ है ।

जब हम कोई फैसला लेते हैं तो उसमें हमारी सोच साफ दिखिई देती है क्योकि कोई भी फैसला लेने से पहले हम थोडा मोल-भाव करते हैं, उससे हमारे Expectation जोडे होते हैं ।

अगर आप अपनी सोचने की क्षमताओं और फैसले लेने की काबिलितयों को बढ़ाना चहाते हैं तो आपको दूर की सोच रखनी चाहिए, अर्थशास्त्री मिल्टन फ्राइडमेन ने एक बार कहा था “सोच की गुणवक्ता मापने का सबसे अच्छा तरीका है, उस व्यक्ति का अपने व्यवहार और आइडिया के परिणामों को देख पाना है ” दरअसल मिल्टन का मानना था की नतीजे ही सब कुछ होते हैं ।

जबकि कुछ कुछ लोग मानते है की केवल इरादा और इच्छा ही सब कुछ होता है । यानी इच्छा और इरादे के दम पर ही सफलता हासिल की जाती है । लोग अक्सर Motivational videos और Inspritional articals को पढ़ कर जुनून में आ जाते हैं और कुछ गलत फैसले ले बैढ़ते हैं ।

मुझें अपने दोस्त के चाचा की कहानी याद आ रही है । उनकी एक अच्छी नौकरी थी, और घर आर्थिक हालात भी काफी बेहतर थी । लेकिन वो किसी चीज से प्रभावित हो गए, जिसके बाद उन्होने खुदका बिजनेस करने का सोचा, वो शायद किसी बडे Motivational Speaker से प्राभवित थे ।

उन्होने बिना सोचे और प्लानिंग के अपनी नौकरी छोड़ दी और बिजनेस शुरू कर दिया, बाद में पता चला की पता की उनका बिजनेस डूब गया, जिसके कारण उनके हाथ से अच्छी-खासी नौकरी तो गई साथ में घर की आर्थिक हालत भी खराब हो गई । उन्होने प्लस Minus को नही देखा और न ही दूर की सोची, जिसके कारण वो कई बडी गलतियां कर बैठे ।

डा० एडवर्ड वेनफील्ड नें 50 साल तक समाजों और आर्थशास्त्र पर रीसर्च की । उन्होने अपनी रीसर्च का सार अपनी मशहूर किताब The Unheavenly City के जरिये पेश किया । इस किताब में एडवर्ड वेनफील्ड ने बताया की जिन समाजों या समुदायों में दूर की सोच रखनी की काबिलिय होती है वो सबसे अमीर और समृध्द होते हैं ।

ब्रेन ट्रेसी अपनी किताब Get smart में लिखते हैं की दुनिया के 66% करोडपति और अरब पति वो हैं जिन्होने खुद अपने दम पर दौलत कमाई है । और बाकि 34% वो लोग हा जिन्हे दौलत विरासत में मिली है । ब्रेन ट्रेसी बताते है की जो लोग अपने दम पर करोडपति या अरबपति बने हैं वो अक्सर Long-term persepctive यानी दूर की सोच रखने वाले होते हैं ।

1994 में, गैरी हेमल और सी०के० प्राहालड नें बिजनेस पर Competing for the Future. नाम से एक breakthrough किताब लिखी, जिसमें उन्होने बताया की बिजनेस में सफल होने के लिए दूर की सोच कितनी जरूरी है । ये तो केवल बिजनेस और पैसे की बात है अगर आप जीवन के किसी भी हिस्से में सफल होना चहाते हैं तो आपको Long-term Thinking रखनी ही पड़ेगी । इसलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में बताएगे की दूर की सोच कैसे बनाए,

आइये जानते हैं दूर की सोच रखने के फायदे के बारे में

दूर की सोच रखने के फायदे ( How to develop long-term thinking )

 

  • दूर की सोच रखने के फायदे
    दूर की सोच रखने के फायदे

 

यहाँ हम आपको Long term thinking डेवलप करने के कुछ आसान Steps बता रहे हैं । लेकिन याद रहे, किसी भी कला में माहिर बनने के लिए आपको लम्बे समय तक उसका अभ्यास करना होगा। जब आप किसी कला का लम्बे समय तक अभ्यास करते हैं तो वो आपका Nature बन जाता है ।

*. step~1 सबसे पहले उस चीज को लिखिये जहाँ आपको Long-term सोच डेवलप करनी हैं । आप जिंदगी के किसी भी हिस्से के लिए Long-term Thinking डेवलप कर सकते है, जैसे- स्वास्थ्य या रिश्ते

*. step~2 अगर आपको किसी विशेष क्षेत्र में दूर की सोच बनानी है तो सबसे पहले आपको ये देखना होगा की आपकी वर्तमान में किस तरह की सोच हैं इसके लिए आप अपनी डेली Choices को देख सकते है । सबसे Important है व्यवहार, अगर कोई व्यक्ति कहता ही की मेरे लिए सेहत सबसे जरूरी है और मैं हमेशा फिट रहना चहाता हूँ लेकिन वो प्रतिदिन ऐसी Choice लेता है जिससे उसकी सेहत खराब हो, तो वो उसके लिए सेहत जरूरी नही है ।

*. step~3 जब आप अपने व्यवहार के प्रति जागरूक हो जाएगे तो आपको पता चलेगा की आप ज्यादातर समय भविष्य के परिणाम सोच कर किसी काम को नही करते हैं, अब जब भी कभी आपको उस क्षेत्र से जुडी कोई Choice लेनी हो, तो खुदसे पुछिये क्या ये Choice मेरे Long-term लक्ष्य पुरे करने में मदद करेगी? इससे आपका ध्यान उस Choice के परिणाम पर जाएगा, और आप तय कर पाएगे की आपको क्या फैसला लेना है ।

सबसेे जरूरी है की आप उस Action का परिणाम आकने की कोशिश करें, उस एक्शन को करने से पहले खुदसे पुछिये की इस Action करने से भविष्य में क्या असर पडेगा ।

निष्कर्ष

अपने लक्ष्यों की जल्दी हासिल करने और वर्तमान में सही फैसले लेनी की क्षमता को बढ़ाने के लिए दूर की सोच रखनी चाहिए, दूर की सोच डेवलप करने के लिए पहले उस चीज की लिखिये जहाँ आप दूर की सोच बनाना चहाते है । इसके बाद अपने वर्तमान की Choices के प्रति जागरूक हो जाएये । क्योकि Choices आपके सोचने के तरीके को व्यक्त करती है ।

और जब भी कभी आपको उस क्षेत्र से सम्बन्धित कोई चॉइस लेनी हो तो खुदसे पूछिये क्या ये Choice मेरे लक्ष्य हासिल करने में मदद करेगी । अगर वो Choice आपको लक्ष्य हासिल करने में मदद करे तो उसे करिये लेकिन वो आपको लक्ष्य हासिल करनें मे मदद न करे तो उसे मत करिये और किसी भी एक्शन को करने से पहले देखिये की उसका भविष्य में आप पर क्या असर पडेगा ।

आपको ये आर्टिकल दूर की सोच रखने के फायदे कैसा लगा कृपया कमेंट के माध्यम से जरूर बताए

Leave a Comment