सफल होने के विश्वास होना क्यों जरूरी है? power of belief in hindi

विश्वास गीली मिट्टी को पके हुए बर्तन में बदल देता है, विश्वास ही हैं जो हमारी आशाओं को जिंदा रखता है। जब तक विश्वास न हो तब तक भगवान भी पत्थर है। और जब खुद पर से ही विश्वास उठ जाए तो आदमी दोसरों की ठोकरों पर जीता है ।

विश्वास ऐसी मानसिक दशा ( State of mind ) पैदा करता है जिसमें व्यक्ति समाधान ढूँढ़ता है उदाहरण के लिए एल्वा एडिसन को विश्वास था की वो बिजली का बल्व बना सकते है । उनके इसी विश्वास नें 10 हजार असफलतों के बाद भी उनके अन्दर उम्मीदों और आशाओं को जिंदा रखा विश्वास की शक्ति ने ही एडिसन को Actions लेने के लिए Motivate रखा जिसके कारण वो आखिर में बल्व का अविष्कार करने में सफल रहे ।

हजारों सालों से चाँद इंसान के लिए एक रहस्य था, न जाने कब से लोग अपने बच्चों को चाँद के बारे में तरह-तरह की कहानियां सुनाते आ रहे थे, और जब बच्चे चाँद को पकडने की ज़िद करते थे वो पानी के थाल में चाँद का प्रतिबिंब रख देते है । लेकिन कुछ लोगों को अपने जज़्बे और काबिलियतों पर यकीन था, उन्हे पता था की उनके प्रयास जरूर रंग लाएगे जिसकेे बाद इंसानी कल्पना, इच्छाशक्ति और विश्वास नें मिल कर उडान ली और नील आर्मस्ट्रांग को चाँद तक पहुचा दिया ।

लेकिन अविश्वास बहुत बडी मानसिक कमजोरी है ये व्यक्ति को बहाने बनाने की मानसिक दशा में ला देती हैं । जो लोग विश्वास नही रखते वो अक्सर कहते हैं “मुझे नही लगता की मैं उस नए बिजनेस को कर सकता हूँ क्योकि मेरे पास बिल्कुल भी अनुभव नही है”, या “मै उस लक्ष्य तक नही पहुच सकता क्योकि मेरे पास इतनी इच्छाशक्ति नही है” वाइकिंग्स दुनिया के सबसे खूखार लड़ाके थे, वो जब भी समुद्री सफर कर के किसी देश पर हमला करने जाते थे तो वहा पहुचने के बाद अपने जहाजो को जला देते है ।

क्योकि उन्हे विश्वास होता था की जीत हमारी ही होगी, इस तरह उन के पास जीतने के सिवा कोई विकल्प ही नही बचता था, इसलिए अगर उनमें कोई नया सिपाही होता था तो उसे भी विश्वास की परीक्षा से गुज़रना पडता था |

यही कारण है की वो लगभग-लगभग हर जंग जीतते थे |… विश्वास की शक्ति का असर हर जगह देखा जा सकता है । आपको जानकर हैरानी होगी डॉक्टर भी इलाज विश्वास के आधार पर बी करते हैं । शायद अपने प्लेसेबो इफेक्ट के बारें जरूर सुना होगा ।

कुछ सालों पहले एक प्रयोग हुआ था जिसमें कुछ डॉक्टरो ने बिमारी से जूझ रहे मरीज़ो से को नकली गोलियां दी और कहा की ये सबसे बेहतरीन दवा है जिसे खाने के थोडे समय बाद ही आप ढीक हो जाएगे | जिसे खाने के बाद मरीज सच में ढीक हो गए |

यानी दवा नकली थी मरीजों के विश्वास नें उन्हे ढीक किया यही कारण हैं की कुछ लोग केवल अपने फैमली डॉक्टर से ही ढीक होते है क्योकि उन्हे सबसे ज्यादा उसी पर विश्वास होता है ।

अगर आप जोसेफ मर्फी की मशहूर किताब “अवचेतन मन की शक्ति” को पढ़ेगे तो आपको ऐसी सौकडो कहानिया मिलेगी जिनमे लोगो ने केवल विश्वास के दम पर पैसा, खुशी, स्वास्थ्य, सम्मान, तरक्की और जीवन साथी पाए | विश्वास की शक्ति का सबसे बडा प्रमाण हमें गाँधी जी के जीवन से मिलता है ।

गाँधी जी के पास दौलत, युध्द के हाथियार, फौज और यहाँ की एक जोडी कपडे भी नही थे । लेकिन फिर भी गाँधी अपने दौर के सबसे शक्तिशाली आदमी थे क्योकि उनके पास वो था जो किसी के पास नही था, उनके पास अटूट विश्वास था । उन्हे विश्वास था की अहिंसा के रास्ते पर चल कर वो देश आज़ाद करा सकते है और इतिहास गँवा है की गाँधी ने बिना हाथियार और हिंसा का रास्ता अपनाए अग्रेज़ो को भारत की धरती से खदेड़ा था |

दुनिया के सबसे पहले और मशहूर सफलता और अमीरी के ऊपर लिखने वाले लेखक नेपोलियन हिल नें अपनी किताबों और ज्ञान से दुनियाभर में लाखों लोगों को करोडपति बनाया है । नेपोलियन अपनी किताब “अपनी सोच से अमीर बनिये” में लिखते हैं.. “जब हमारे विचार हमारे विश्वास के साथ मिल जाते है और उनके साथ तीव्र इच्छाशक्ति जुड जाती है तो सपने हकीकत में बदल जाते हैं”

तो आज हम नेपोलियन हिल की किताब अपनी सोच से अमीर बनिये में से आपको विश्वास पैदा करने के तरीकों के बारें में बता रहे हैं । इन तरीकों को हम प्रैक्टिली करने की कोशिश करेंगे क्योकि ज्ञान बिना अमल के बिल्कुल बेकार है ।

विश्वास कैसे पैदा करें ( How to cultivate faith )

power of belife in hindi
power of belife in hindi

 

विश्वास हमारे दिमाग की एक मानसिक अवस्था है । जो किसी विचार, योजना और लक्ष्य को आपके अवचेकन मन तक पहुचाता है । अगर आपने हमारा पिछला आर्टिकल अवचेतन मन की शक्ति को पढ़ा है तो आपको पता होगा की अवचेतन मन क्या है ।

जब कोई विचार या लक्ष्य अवचेतन मन तक पहुत जाता है तो उसे सच होने में बिल्कुल भी समय नही लगता । इसलिए अपने अवचेतन मन के द्वारा विश्वास जागाने के लिए नेपोलियन हिल कुछ स्टेप्स को बता ते हैं । हमने नेपोलियन के स्टेप्स के साथ अपने भी कुछ स्टेप्स जोड दीये हैं । हमें लगता है की ये स्टेप्स आपके अंदर जल्दी आत्मविश्वास पैदा करेंगे ।

*. step~1 उन चीचों को लिखिये जो आपको लगता कि आप नही कर सकते, आप चाहें तो पुरी एक लिस्ट बना सकते हैं । अब उनमें से सबसे महत्वपूर्ण लक्ष्य को चुनिये जिस पर अगर आपको विश्वास हो गया की आप इसे कर सकते हैं तो आपकी लाइफ एक बडा सकारात्मक बदलाव आ सकता है ।

बाकि लिस्ट को आगे के लिए छोड़ देते हैं उदाहरण के लिए आप गाणित सीखना चहाते है तो ये थोड कढीन विषय होता है इसलिए ज्यादातर लोग समझते हैं कि वो गाणित में कभी अच्छे नही हो सकते । और अगर आप इस विषय पर पकड बना लेते है तो इससे आपके Exam में मार्क्स अच्छो आएगे इसलिए येे थोडा महत्वपूर्ण भी है ।

*. step~2- कुछ समय के लिए ऐसी सामाग्री पढ़िये जिसमें ये बताया गया हो की जो आप चहाते है उसे आपके जैसे लोगों नें पहले भी अर्चीव किया है । इससे आपके अन्दर ये Belief पैदा होगा की आप भी उसे कर सकते हैं ।

जो आप चहाते है अगर उसे पहले किसी मे अर्चीव नही किया है तो ये और अच्छी बात है क्योकि आप उसे अर्चीव करने वाले पहले शख्स होंगे । इस तरह की समाग्री पढ़ने के लिए आप किताबों या इन्टरनेट की मदद ले सकते हैं ।

गाणित वाले उदाहरण में जब आप इसके बारे इन्टरनेट पर सर्च करेंगे तो आपकों पता चलेगा की दुनिया के सबसे मशहूर विज्ञानिक आइस्टाइन भी कभी गाणित में बिल्कुल फिसड्डी थे ।

जिसके कारण उनका एक दफा स्कूल में मजाक भी बना था जिसके बाद, उन्होने गाणित सीखने की ठानी और वो दिन-रात गाणित सीखने में लग गए | और आज हम सभी जानते हैं कि आइंस्टाइन कितने बडे विज्ञानिक रहे, उन्हे विज्ञान जगत में इतनी सफलता इसलिए भी मिली क्योकि वो अपने वैज्ञानिक सिध्दांतो को गाणित के द्वारा प्रमाणित कर पाए |

*. step~3- उन तरीकों को लिखिए जिनके जरिये आप अपने लक्ष्य को हासिल कर सकें । इसके लिए आप Brainstorming कर सकते हैं । कुछ देर के लिए किसी शांत जगह पर जाए या पार्क चलें जाए । अगर आप नही जानते की किस तरह उस लक्ष्य को हासिल किया जाए, तो इसके लिए भी थोडी जानकारी जुटाए ।

इन्टरनेट की मदद लें या किसी एक्सपर्ट से सलाह-मशवारा लें । एक बार जब आपको पता चल जाए की उस लक्ष्य को अर्चीव करने के लिए आप कौनसे Actions ले सकते हैं | तो आखिर में उसके बाद एक प्लान बनाईये और जल्द से जल्द उसे अमल में लाईये For example गाणित को सीखने के लिए आप कुछ किताबें या Guides खरीदेंगे, किसी ट्यूटर से कोचिंग लेगे, और Youtube गाणित से रीलेटेड Videos देखेगे ।

*. step~4– आत्मसुझाव दें, आत्मसुझाव का मतलब होता है किसी बात या विचार को खुदसे बार-बार कहना । जब हम किसी विचार को खुदसे बार-बार दोहराते हैं तो उसे हमारा अवतेतन मन सच मान लेता है जिसके कारण वो बात सच होने लगती है या हम उसे सच मान लेते हैं ।

नेपोलियन हिल नें आत्म-सुझाव से सम्बन्धित अपनी किताब Think and grow rich में पूरा चैप्टर दिया है । आत्म-सुझाव देने के लिए एक ऐसा वाक्य बनाई जो वार्तमान काल में हो, सकारात्मक हो और जिससे लगता हो कि आप अपना लक्ष्य पूरा कर चुकें हैं । गाणित के उदाहरण में आप खुदसे कहेगे “मैं बहुत खुशी और गर्व महसूस कर रहा हूँ क्योकि मैं गणित में माहिर हूँ, अगर आप सफल होना चहातें हैं तो आप कहेंगे “मैं बहुत खुशी और गर्व महसूस कर रहा हूँ क्योकि मैं सफल हूँ ।

इन वाक्यों को सुबह उठनें के तुरंत बाद 10 बार मन ही मन में कहें और फिर ज़ोर-ज़ोर से कहें, इसके अलावा रात को सोने से पहले भी ऐसा करें क्योकि इन 2 समय आपका अवचेतन मन सबसे ज्यादा सक्रिय होता है तथा अपने कल्पना नें उन वाक्यों को सच होते हुए देखें, जैसे आप सफल होना चहाते है तो वाक्यों को मन दोहराते समय कल्पना में खुदको सफल होते हुए देखें ।

क्योकि दिमागी तस्वीरों और कल्पना से अवचेतन मन जल्दी प्रभावित होता है । आत्मसुझाव के द्वारा केवल 4-5 महीनों में ही आपकों अपने विचारों में परिवर्तन दिखना शुरू हो जाएगा ।

*. step~5– प्रतिदिन प्रेरणा और सफलता से सम्बन्धित कुछ न कुछ पढ़ते रहिये, क्योकि जिन विषयों के बारें में हम ज्यादातर समय देखते, पढ़ते और सुनते रहते है वैसे ही विचार हमारे दिमाग में घूमते रहते हैं । कुछ लोग हमेशा निराशा में रहते हैं, Sad songs सुनते हैं, और रोने-धोने वाली फिल्में देखते है ।

जिसके कारण वो हर समय निराशा और दुख में रहते हैं । जो लोग प्रेरणा और सफलता से रीलेटेड किताबें पढते हैं, सकारात्मक सोच वाले लोगों के साथ रहते हैं, और जिंदगी के प्रति सकारात्मक नज़रिया रखते हैं वो एक दिन जरूर सफल होते हैं । लेकिन याद रहें आपको प्रेरणा और Motivation लेना ही नही है उस प्रेरणा का इस्तेमाल भी करना हैं ।

कुछ लोग केवल प्रेरणा से सम्बन्धित चीजों के बारें में पढ़ते रहते हैं लेकिन उसे असल लाइफ में Aply नही करते जिसके कारण वो लाइफ में कभी आगे नही बढ़ पाते, आपको ये गलती नही करनी है । हम आपको Resource में उन किताबों के Links देंगे जो आपको खुदके प्रति आत्मविश्वास पैदा करेंगे और एक सफल इंसान बनने में मदद करेंगी ।

मैं पर्सनली इन किताबों को पढ़ता हूँ और यकीन मानिये मैं हर किताब को 12 से 15 बार पढ़ चुका हूँ। तो ये कुछ तरीके थे जिनको Follow कर के आप आत्मविश्वास पैदा कर सकते हैं । मुझे उम्मीद है कि आप इन्हे अपनी लाइफ में जरूर Aply करेंगे और जिंदगी में सकारात्मक बदलाव लाएगे ।

resource

अगर आप आत्मसुझाव और विश्वास से सम्बन्धित ज्यादा जानना चहाते हैं तो नीचें दिए गए Links पर Click कर के Amazon से इन किताबों को खरीद सकते हैं ये किताबें न केवल आपके अन्दर आत्मविश्वास पैदा करेंगी वल्ति आपको एक सफल इंसान बननें में भी मदद करेंगी अपनी सोच से अमीर बनिये बडी सोच का बडा जादू

Awaken the giant within

अपनी आत्म-शक्ति को पहचाने

मुठ्ठी में तकदीर

निष्कर्ष

विश्वास वो शक्ति है जिसके दम पर बडे से बडे युध्द बिना हाथियार उठाए जीते जा सकते हैं । विश्वास वो मानसिक अवस्था जिसमें व्यक्ति जीतने के रास्तो ढूँढ़ता है । लेकिन अविश्वास एक नकारात्मक मानसिक अवस्था है, इस अवस्था में लोग अक्सर हार मानने के बहानें ढूँढ़ते हैं ।

आत्मविश्वास पैदा करने के लिए उन कामों की एक लिस्ट बनाईये जो आपको लगता है की आप नही कर सकते । कुछ समय ऐसी समाग्री पढ़िये जिसमें ये बताया गया हो की जो आप चहाते हैं वो पहले भी कुछ लोगो के द्वारा अर्चीव किया जा चुका ।

इसके बाद उन तरीकों को लिखिये जो आप उस लक्ष्य तक पहुचने के लिए कर सकते हैं और वहा तक पहुचने के लिए एक प्लान बनाइये । खुदको सकारात्मक आत्मसुझाव दिजिए और प्रतिदिन प्रेरणा तथा सफलता से सम्बन्धित कुछ ना कुछ पढ़ते रहिये |

Leave a Comment