354 ipc in hindi . dhara 354 kya hai . section 354 ipc in hindi . ipc 354 punishment in hindi .

354 ipc in hindi . dhara 354 kya hai . section 354 ipc in hindi . ipc 354 punishment in hindi .

भारतीय संविधान की धारा 354 के बारे में विस्तार से जानकारी । धारा 354 क्या है धारा 354 कब लगाई जाती है कौन धारा 354 का इस्तेमाल कर सकता है । भारत में महिलाओं के साथ और लड़कियों के साथ बहुत सारे अत्याचार उत्पीड़न होते हैं और बहुत सारी महिलाओं को यातनाएं झेलनी पड़ती है ।

इन सभी तरह की समस्याओं के लिए भारत के संविधान में धाराएं बनाई गई है । भारतीय संविधान की धाराएं महिलाओं की रक्षा करती है और इनके हितों का ध्यान रखती है । यदि कोई व्यक्ति महिलाओं पर अत्याचार करता है , उन्हें यातनाएं देता रहता है तो महिलाएं कानून की धाराओं का इस्तेमाल अपराधी को सजा दिलाने में करती है ।

आइए अब इंडियन पेनल कोड ( ipc ) की धारा 354 ( dhara 354 ) के बारे में विस्तार से जानते हैं । इंडियन पेनल कोड की धारा 354 कब लागू होती है और इनका इस्तेमाल किस प्रकार से किया जाता है । धारा 354 से बचाव कैसे किया जाता है ।

ipc 354 in hindi . section 354 ipc in hindi

यदि कोई व्यक्ति किसी लड़कि या महिलाओं के मान सम्मान को ठेस पहुंचाता है और उसकी लज्जा भंग करने का प्रयास करता है तो ऐसी स्थिति में भारतीय पुलिस धारा 354 के अंतर्गत है एफआईआर ( Fir ) दर्ज करती है ।

dhara 354 kya hai . 354 dhara kya hai

धारा 354 क्या है ? धारा 354 महिलाओं के मान सम्मान की रक्षा के लिए बनाई गई है । यदि कोई व्यक्ति अपराध के उद्देश्य से और महिला के मान सम्मान को ठेस पहुंचाने के उद्देश्य से किसी महिला पर हमला करता है तो भारतीय पुलिस उस अपराधी पर धारा 354 ( dhara 354 ) के अंतर्गत एफ आई आर दर्ज करती है । यदि किसी व्यक्ति पर धारा 354 लग जाती है तो उस व्यक्ति को जमानत नहीं मिलती है और जमानत के तौर पर बाहर नहीं निकाला जा सकता है ।

354 ipc in hindi jamanat . dhara 354 me jamanat .

dhara 354 me jamanat – धारा 354 लगने पर व्यक्ति को जमानत कैसे मिलती है । धारा 354 लगने पर जमानत का क्या प्रावधान होता है । धारा 354 लगने पर जमानत कब मिलती है । यदि किसी व्यक्ति को किसी अपराध में धारा 354 लग जाती है और पुलिस एफआईआर दर्ज करके पकड़ लेती है तब व्यक्ति को 1 साल से पहले जमानत नहीं मिलती है । कम से कम 1 साल तक व्यक्ति को जेल में रहना पड़ता है । उसके बाद में जमानत मिलती है । जमानत का समय 1 साल से लेकर के 5 साल के बीच का होता है । 5 साल के अंदर व्यक्ति को कभी भी जमानत मिल सकती है ।

dhara 354 in hindi . महिलाओं के साथ छेड़खानी करने पर लगती है धारा 354
धारा 354 – आइपीसी की धारा 354 इज्जत खराब करने के इरादे से महिला का उत्पीडऩ या आपराधिक बल प्रयोग और 354A यौन उत्पीडऩ से जुड़ी है। महिलाओं के साथ छेड़खानी करने पर लगती है धारा 354 ।

क्या है भारतीय दंड संहिता ?

भारतीय दण्ड संहिता यानी Indian Penal Code ( IPC ) कहते हैं । यदि किसी व्यक्ति ने अपराध किया हो और वह अपराध सिद्ध हो गया हो तो उसे सजा मिलती है । इसी सजा को दंड के नाम से जाना जाता है । भारतीय संविधान में इसे दंड संहिता के नाम से जाना जाता है । दंड संहिता में यह बताया गया है कि कौन से अपराध के लिए कौन सी सजा दी जानी चाहिए । किस अपराध की सजा क्या है ?

ipc 354 in marathi

354 आईपीसी में कितनी सजा है? ipc 354 in hindi pdf
धारा 354 लगने पर व्यक्ति को निम्नलिखित सजा मिलती है । जब कोई महिला किसी पुरुष पर लज्जा भंग करने का और छेड़खानी का आरोप लगाती है और पुलिस धारा 354 ( ipc354 ) के तहत एफ आई आर दर्ज करती है । तब व्यक्ति को कम से कम 1 साल की सजा होती है । ज्यादा से ज्यादा व्यक्ति को 5 साल तक की सजा हो सकती है । यदि व्यक्ति ने गंभीर अपराध करने की कोशिश की है या किया है तो आर्थिक जुर्माना भी भरना पड़ सकता है । धारा 354 लगने पर व्यक्ति को यह सजा मिलती है ।

ipc section 354 in hindi

section 354 ipc amendment in hindi

ipc act 354 in hindi. ipc dhara 354 in hindi

ipc dhara 354 in hindi – आईपीसी एक्ट 354 महिलाओं की सुरक्षा के लिए और महिलाओं के हितों का ध्यान रखने के लिए बनाया गया कानून है । जिसमें यदि कोई अपराधी किसी महिला के मान सम्मान को ठेस पहुंचाने की कोशिश करता है , उसकी लज्जा को भंग करने का प्रयास करता है , महिला के साथ छेड़छाड़ करता है तब आईपीसी एक्ट 354 लागू होता है ।

ipc 354 punishment in hindi.

आईपीसी 354 की सजा क्या है ? आईपीसी 354 की सजा 1 साल से लेकर के 5 साल तक की जेल और आर्थिक जुर्माना हो सकता है । इसके अलावा सजा अपराध पर भी निर्भर करती है । अपराधी का अपराध गंभीर होगा तो सजा इससे ज्यादा भी हो सकती है ।

धारा 354 से बचाव धारा 354 आईपीसी क्या है (SECTION 354 IPC IN HINDI) इसके बचने के उपाय पूरी जानकारी

kalam 354 in marathi

धारा 354-ख आईपीसी क्या है ?

धारा 354-ख – यदि किसी महिला या लड़की को निर्वस्त्र करने के उद्देश्य से कोई व्यक्ति हमला करता है या निर्वस्त्र करने के लिए बल का प्रयोग करता है तब उस व्यक्ति पर आईपीसी धारा 354-ख लागू होती है ।

आईपीसी धारा 354-ख की जमानत और सजा क्या है ?

आईपीसी धारा 354-ख की जमानत और सजा – यदि किसी अपराधी पर आईपीसी धारा 354 के लागू होती है तब उस व्यक्ति को कम से कम 3 साल की जेल होती है और अधिकतम 7 साल की जेल हो सकती है इसके अलावा उस अपराधी पर अपराध सिद्ध होने पर आर्थिक जुर्माना भी भरना पड़ सकता है ।

आईपीसी धारा 354-ग कब लागू होती है ? Section 354-C IPC What is visual irritability?

आईपीसी धारा 354-ग – आईपीसी धारा 354 गे तब लागू होती है जब कोई व्यक्ति उस समय महिला की फोटो लेता है जब वह अपना प्राइवेट कार्य कर रही होती है । यदि कोई व्यक्ति महिला को घूरता है , देखता है और उसकी फोटो लेता है और फोटो को वायरल करता है तब आईपीसी धारा 354-ग पुलिस के द्वारा लगाई जाती है ।

आईपीसी धारा 354-ग की जमानत और सजा क्या है ?

यदि किसी अपराधी पर आईपीसी धारा 354-ग साबित हो जाती है तब उस अपराधी को कम से कम 1 साल की जेल होती है और अधिकतम 3 साल की जेल हो सकती है । इसके साथ ही अपराधी पर आर्थिक जुर्माना दंड के रूप में लगाया जा सकता है ।

धारा 354-घ आईपीसी क्या है ? Section 354-D IPC What is stalking of a woman?

धारा 354-घ – 354d ipc in hindi किसी स्त्री या लड़की का पीछा करने पर आईपीसी धारा 354-घ लागू होती है । यदि कोई व्यक्ति किसी स्त्री का उसके मना करने के बाद में भी पीछा करता है और उसके कहने के बाद में भी उसके साथ छेड़छाड़ करता है और जबरदस्ती करता है और उससे नंबर लेने की बात करता है तब उसी व्यक्ति पर भारतीय संविधान की धारा 354-घ लागु होती है ।

आईपीसी धारा 354-घ की जमानत और सजा क्या है ?

आईपीसी धारा 354-घ की जमानत और सजा – यदि कोई व्यक्ति इस तरह का अपराध करता हुआ पाया जाता है और पकड़ा जाता है तब उस व्यक्ति को अपराध सिद्ध होने पर कम से कम 3 साल तक की जेल हो सकती है । इसके अलावा उस व्यक्ति को आर्थिक जुर्माना दंड के रूप में भरना पड़ सकता है।

आईपीसी धारा 354-घ इन व्यक्तियों पर भी लागू होती है

1 . यदि कोई व्यक्ति यौन संबंध के उद्देश्य से महिला के संपर्क में आता है या फिर उसे टच करता है तभी आईपीसी धारा 354-घ लागू होती है ।

2 . यदि कोई व्यक्ति महिला या लड़की की इच्छा के विरुद्ध योन संबंध की मांग करता है और उनके सामने यौन संबंध का प्रस्ताव रखता है या फिर इच्छा के विरुद्ध यौन संबंध का अनुरोध करता है तब भी व्यक्ति पर आईपीसी धारा 354-घ लागू होती है ।

3 . महिला या फिर लड़की को उसकी इच्छा के विरूद्ध अश्लील सामग्री जैसे की फोटो वीडियो आदि दिखाना भी आईपीसी धारा 354-घ के अंतर्गत आता है ।

धारा 354 आईपीसी से बचाव Protection from section 354 IPC?

धारा 354 आईपीसी से बचाव – यदि किसी महिला के द्वारा या लड़की के द्वारा आप पर आईपीसी धारा 354 लगा दी जाती है तब आप अपने बचाव कैसे करोगे ? बचाव करने का तरीका और उपाय क्या है ? किसी भी महिला के साथ छेड़छाड़ करना, लज्जा भंग करना , पीछा करना , यौन संबंध के लिए प्रोत्साहित करना एक गंभीर अपराध माना गया है । यदि किसी व्यक्ति पर आरोप लग जाता है तब इससे बचना मुश्किल होता है फिर भी इसके बचने के कोई उपाय मौजूद नहीं हैं ।

कई बार महिलाओं और लड़कियों के द्वारा छोटी सी बात पर या लड़ाई झगड़े पर धारा 354 के अंतर्गत एफआईआर दर्ज करवा देती है , इस स्थिति में महिला के द्वारा कानून की धारा 354 का दुरुपयोग होता है । इससे बचने का एक ही उपाय होता है । आपके पास पर्याप्त सबूत होने चाहिए । सबूत के तौर पर आपके पास सीसीटीवी फुटेज या आसपास के लोगों के द्वारा बनाया गया वीडियो या फिर किसी के द्वारा खींचा गया फोटो होना चाहिए । यदि आपके पास पर्याप्त सबूत है तब आप इस धारा 354 से बच सकते हो ।

आप अपने सारे सबूतों को इकट्ठा करके इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर को दिखाएं और उनके सामने रखें । यदि इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर भी आपको अपराध की दृष्टि से देखता है तब आप धारा 482 के तहत आप उच्च न्यायालय में अपनी अर्जी दाखिल कर सकते हो । इस प्रार्थना पत्र में आपके सभी सबूत होने चाहिए और वह सभी आप के पक्ष में होने चाहिए जो कि आप को निर्दोष साबित कर सकें । यदि आपने सारे सबूत सही से पेश किए हैं और उच्च न्यायालय को लगता है कि आप निर्दोष हैं तब आप की गिरफ्तारी पर रोक भी लगाई जा सकती है ।

preeti

oknisha is a online education news port .