गुस्सा काबू करने के 10 तरीके Gussa kaise kabu kare

Gussa kaise kabu kare गुस्सा एक ऐसा शक्तिशाली हाथियार है जिसेे अगर समझदारी से इस्तेमाल किया जाए तो पुरी दुनिया बदल सकता है, मार्टिन लूथर किंग को रंग पर आधरित भेदभाव से गुस्सा था जिसने उनके अन्दर एक ऐसी आग पैदा कर दी जिसने पुरे अमेरिका मे नागरिक अधिकार आंदोलन को जन्म दिया, चाणक्य को राजा के द्वारा दरवार मे सबके सामने अपमानित किया गया तब चाणक्य ने सबसे के सामने अपने गुस्से को प्रतिज्ञा मे बदल दिया और हिन्दुस्तान की पुरी सत्ता बदल दी ।

गाँधी जी को कुछ अंग्रेज़ो ने भारतीय होने की वजह से चलती ट्रेन से फेक दिया जिसके कारण गाँधी के अन्दर गुस्से की भट्टी दहक ऊठी लेकिन गाँधी जी ने उस क्रोधाग्नि को अहिंसा की पवित्र शक्ति मे बदल कर पुरे ब्रटिश सम्राज्य को उखाड़ फेका ।

तो गुस्सा कोई बुरी चीज नही है हर व्यक्ति को गुस्सा आता ये बिल्कुल समान्य है। इंसान मे कई तरह की भावनाए होती है जिन्हे सकारात्मक तरीके से Express करना ही चाहिए अगर इन भावनाए को दबाया जाए या इनका दमन किया जाए तो ये जहर की तरह काम करती है ।

लेकिन जब गुस्सा हम पर हावी होने लगे, हमे अपनी कटपुतली बना ले, सेवक मालिक पर भारी पडने लगे तब समस्या खड़ी हो जाती है अगर उस समय हमने कुछ नही किया तो मुश्किलें और बढ़ जाएगी | कुछ लोगो के साथ ऐसा ही होता है गुस्सा उनकी नस-नस मे चढ़ जाता है, उन पर पुरा नियत्रण जमा लेता है ।

उन्हे छोटी-छोटी और बेवजह की बातो मे भी गुस्सा आने लगता है वो चौबीसों घन्टें गुस्से से भरे रहते है । एक छोटी सी घटना ही उन्हे तानाशाह बनाने के लिए काफी है वो चलते-फिरते ज्वालामुखी की तरह होते है जो हर समय फटने के लिए तैयार रहती है ।

खैर गुस्से वाले व्यक्ति को क्षमावान व्यक्ति बनाया जा सकता है, गुस्से को रूपातंरित कर के क्षमा और प्यार मे बदला जा सकता है, ज्वालामुखी वाले व्यक्ति को हिमालय की तरह शांत और ठण्डा बनाया जा सकता है । लेकिन कैसे? कैसे गुस्सो को काबू किया जाए, कैसे गुस्सो को क्षमा मे रूपातंरित किया जाए, क्या आप जानना चहाते है तो इस आर्टिकल को पुरे ध्यान से अन्त तक पढें ।

गुस्सा कैसे काबू करें ( Gusse ko kabu Me kaise kare )

 

Gussa kaise kabu kare
Gussa kaise kabu kare

 

जैसा की मेने पहले कहा गुस्सा एक सामान्य भावना है जिसे सकारात्मक तरीके से Express करना ही चाहिए, दमन का रास्ता तनाव का रास्ता है अगर गुस्सा करना आपकी आदत है तो इसे दबाना ढीक नही है आप कुछ समय के लिए तो इसे दबा सकते है लेकिन आपकी इच्छाशक्ति समाप्त होने पर ये दौबारा वापस आएगा ।

इसलिए हम यहाँ कुछ ऐसे तरीके बता रहें हैं । जिन्हे Follow कर के आप बिना किसी नुकसान के गुस्से को हैंडल कर सकते हैं । न केवल आप अपने गुस्से को काबू कर पाएगे बल्कि आपकी पूरी भावनात्नक लाइफ ( Emotional life ) सधरेगी | तो चलिए फिर जानते है की गुस्से को काबू कैसे करें ( How to control anger in hindi )

*. 1~ मानसिक तस्वीरो का सही इस्तेमाल करें *

आपकी मानसिक दशा (Mental Condition ) भी ये तय करती है की आप किस तरह अपनी भावनाओ को हैंडल कर पाएगे | हमारी मानसिक तस्वीरें भी हमारे Emotions को ऊभारने या बदलने मे मदद करतीं है जैसे- आपके बॉस ने आपको किसी कारण डाँट दिया अब बॉस के गुस्से वाली तस्वीर आपके दिमाग मे घूमती रहेगी लेकिन आप उस गुस्से वाली तस्वीर को हँसने और खुश होने के लिए भी यूज कर सकते है ।

भावनाए कन्ट्रोल करने की एक विधि है जिसे इमोशनल पिक्चर चैंजिग ( Emotional picture changing ) कहते है जिसके बारे मे मेने आपको अपनी एक पोस्ट मे बताया था अगर आपने उसे नही पढा है तो उसे एक बार जरूर पढें गुस्से के साथ-साथ आप सभी तरह के नकारात्मक भावनाओ को भी कन्ट्रोल कर पाएगे ।

*. 2~ mindfullness रहें *

जब हमे गुस्सा आता है तब हमे ज्यादातर समय पता ही नही रहता की कब हमें गुस्सा आया और कब हमने गुस्से मे कोई काम बिगाड दिया लेकिन Mindfullness की रेगुलर प्रैक्टिस से न केवल गुस्सा बल्कि आप हर तरह के भावनाओ के प्रति जागरूक होना सीख जाओगे ।

Mindfullness Emotions पर महारत हासिस करने का सबसे अच्छा तरीका है और सबसे अच्छी बात है की आपको किसी भी तरह के दमन और तनाव की जरूरत नही है । माइंडफुलनेस को सीखने के लिए आप Power of now किताब को पढ सकते हैं ।

*. 3~ मेडिटेशन करिये *

जब आप भावनाओ के काबू मे होते है तब आपकी बुध्दि कुछ समय के लिए बिल्कुल काम नही करती क्योकि हमारे दिमाग का रेपटेलीयन हिस्सा भावनाओ को नियंत्रित करता है और जब ये Active होता है तब Prefontal cortex जो बुध्दि को नियंत्रित करता है वो कुछ समय के लिए काम नही करता जिससे भावनाओ को काबू करना बहुत मुश्किल हो जाता है ।

लेकिन मेडिटेशन दिमागी और भावनात्मक स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है क्योकि ये Prefontal cortex को मजबूत करता है जिससे इच्छा शक्ति बढ़ती है और Emotions को काबू करना आसान होता है । जो साधू डेली घंटो के लिए मेडिटेशन करते है उनके दिमाग को जब कुछ विज्ञानिको ने स्केन किया तो पता चला की उनका Prefontal cortex आम लोगो से बहुत बड़ा था ।
इसलिए आपको ध्यान ( Meditation ) करने की आदत डालनी चाहिए |

*. 4~ परिणामों को याद रखिये *

मेरे कॉलेज मे एक लडका है । पता नही क्यो लेकिन वो हर समय मुझे निचा दिखाने मे लगा रहता है वो हर उस मौके की तलाश मे रहता है जिससे वो मुझे नीचा दिखा सके या मेरा मज़ाक बना सकें इसी कारण मेरी और उसकी अक्सर हाथापाई होती रहती है मुझे समझ नही आता उसे ऐसा करने मे क्या मज़ा आता है ।

एक दफा वो आदत से मजबूर होकर दोस्ते के सामने मेरी छूटी बुराई करने लगा और बेवजह मेरा मजाक बनाने लगा । कुछ समय मै यू ही सुनता रहा लेकिन थोडे समय बाद मेरा सबर टूट गया और मेने पुरी शक्ति से उसके मुँह पर घूसा मारा लेकिन उसने अपना मुह हटा लिया और मेरा घूसा दिवार पर लग गया जिससे मेरे हाथ पर मोच आ गई थी और मै कई महीनो परेशान रहा था । लेकिन उस घटना का मुझ पर बहुत गहरा असर हुआ उसने मुझे सिखा दिया की Self-control मे रहना कितना जरूरी है ।

इसके बाद कितना भी गुस्सा आए मै कभी अपना कन्ट्रोल नही खोता क्योकि जब भी मुझे गुस्सा आता है तो मुझे अपनी पुरानी दशा याद आ जाती है जिससे जिससे मुझे कमजोर समय में गुस्सा पीने की शक्ति मिलती है । इसलिए जब भी गुस्सा आए तो तुरन्त उस पल को याद किजिए जब आपको गुस्से के कारण बुरे परिणामो को भूगतना पडा था इससे आपको गुस्सा नियंत्रित करने मे मदद मिलेगी ।

*. 5~ सकारात्मक सोच रखिये *

गुस्सा कभी-कभी नकारात्मक सोच के कारण भी उत्पन्न होता है जब हम साधारण सी घटनाओ को बड़ा चडा कर खुदको नकारात्मक रूप मे पेश करते है तो इससे गुस्सा उठना साधारण सी बात है | लेकिन सकारात्मक सोच ( Positive thinking ) के द्वारा नकारात्मक सोच ( Nagitive thinking ) को हराया जाता है इसलिए हर परिस्थिति मे सकारात्मक सोचने की आदत डालें ।

*. 6~ गुस्से को सकारात्मक तरीके से Express करें *

मोहम्मद अली दुनिया के सबसे मशहूर बॉक्सर थे उनकी बॉक्सर बनने की कहानी भी बड़ी रोचक है उन्हे बचपन से ही बहुत गुस्सा आता था उनका इतना गुस्सा देखकर एक आदमी ने सलाह दी “क्यो तुम अपने गुस्से को बॉक्सिंग रिंग मे अाज़माओ” मोहम्मद अली ने उस आदमी की सलाह मान ली और बॉक्सर बन गए जिसके बाद वो अपने गुस्से का सही इस्तेमाल कर पाए और दूनिया के सबसे बड़े बॉक्सर बन गए ।

लेकिन गुस्सा काबू करने के लिए आपको बॉक्सर बनने की जरूरत नही है आप डेली कई Activities के द्वारा अपना गुस्सा Positive तरीके से Express कर सकते है जैसे- हार्ड वर्कआउट करना, किसी पुतले को पंच मारना, या कोई स्पोर्ट गेम खेलना ।

*. 7~ Hobbies को करिये *

Hobbies productive तरीके से टाइम बिताने का सबसे अच्छा ज़रिया होती है, इस तरह की Activities करने से हमारी रचनात्मता बढ़ती है और खुदके प्रति अच्छा भी महसूस होता है । जो लोग फालतू रहते है बोरियत के कारण उन्हे गुस्सा आने लगता है अपने भी सुना होगा की खाली दिमाग शैतान का घर होता है इसलिए अपने दिमाग को शैतान का घर ना बनने दें और थोडा समय Hobbies करने मे भी Spend करें ।

*. 8~ गुस्से के समय गहरी साँसे लें *

जब भी आपको गुस्सा आए उस समय थोडी देर के लिए शांत होकर आँखें बंद कर लें और गहरी-गहरी साँसें लें इससे आपका दिमाग पूरी तरह शांत हो जाएगा और गुस्सा भी काबू मे आ जाएगा ।

 

*. 9~ दूसरों से अच्छे रिश्ते रखें *

 

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है । अगर हमारे लोगो से रिश्ते ढीक ना हो तो ये बडे दुख और गुस्से का कारण बन सकता है ।

अक्सर लोगो के अपने पडोस और काम करने वाले लोगे से झगडे होते है जिसके बाद वो उनका गुस्सा अपने पार्टन या बच्चो पर ऊतारते है जिसके कारण गुस्से साथ-साथ उनके पारिवारिक रिश्ते भी घराब होते हैं । इसलिए अपने रिश्ते मे सुधार करें

*. 10~ दस तक उल्टी गिनती गीनें *

जब आपको गुस्सा आए तो उस समय अाप ध्यान बटाने के लिए दस तक उल्टी गिनती गिन सकते है । इससे आपका ध्यान गुस्से वाले टॉपिक से हट कर अपनी गिनती पर आ जाएगा और आप पहले से थोडे कन्ट्रोल मे आ जाएगे ।

Leave a Comment