हार्मोन की कमी से कौन सा रोग होता है ? महिलाओं में हार्मोन असंतुलन के नुकसान। Hormones की problem को treat करने का क्या तरीका होता है? hormone deficiency diseases

हार्मोन की कमी से कौन सा रोग होता है ? महिलाओं में हार्मोन असंतुलन के नुकसान। Hormones की problem को treat करने का क्या तरीका होता है? hormone deficiency diseases

हार्मोन की कमी से कौन सा रोग होता है ? महिलाओं में हार्मोन असंतुलन के नुकसान। Hormones की problem को treat करने का क्या तरीका होता है? hormone deficiency diseases .

हमारा खान-पान और रहन-सहन directly ओर indirectly हमारी health को effect करता ही है। यह सभी जानते हैं कि हमारी body को fit और healthy रखने के लिए proper diet या balanced diet लेना बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

अगर balanced diet ना ली जाए और diet में किसी भी एक nutrient की कमी हो तो उस वजह से body में deficiency यानी कमी हो सकती है और कमी के कारण बीमारी या disease बन सकती है।

आज के इस article में हम आपको बताएंगे ऐसी ही एक deficiency के बारे में, जिसकी वजह से हमारी body पर बहुत ज्यादा असर (effect) पड़ता है।

आज का हमारा article है hormones की deficiency पर। इसमें हम आपको बताएंगे हॉर्मोन्स (hormones) यानी ग्रन्थिरस की deficiency से कौन-कौन सी diseases होती हैं और उनकी deficiency को कैसे ठीक किया जा सकता है।

तो चलिए सबसे पहले बताते हैं कि hormones की deficiency से कौन-कौन से रोग यानी बीमारियां (diseases) होती हैं।

Hormones की deficiency से होने वाला रोग या बीमारी ,hormones के असंतुलन से होता है इसे हाइपोथायरॉइडिज्म (hypothyroidism) कहते हैं। अगर time पर इस hormone deficiency को ठीक ना किया जाए तो इसकी वजह से मोटापा(obesity) , जोड़ो मे दर्द (joint pain) और ह्वदय रोग(heart problems) हो सकते हैं।

harmons ki kami se kya hota hai . Body में hormones की deficiency यानी कमी से क्या-क्या होता है?

अब आपको बताते हैं hormones या ग्रन्थिरस की कमी से क्या होता है? अगर body में हॉर्मोन्स (hormones) की कमी होती है तो उस वजह से क्या होता है? Body में hormones की deficiency यानी कमी से क्या-क्या होता है?

हमारी body में हर एक चीज अच्छे से balanced होनी बहुत ही ज्यादा important है। अगर किसी भी चीज का imbalance हो जाता है, तो उसका असर हमारी पूरी body पर पड़ता है।

ऐसे ही अगर hormones की कमी होती है तो इससे हमारे शरीर (body) पर अलग-अलग तरह से प्रभाव पड़ता है। महिलाओं और पुरुषों में हारमोंस के imbalance से अलग-अलग तरह के प्रभाव (effect) पड़ते हैं।

महिलाओं में hormones की कमी से महावारी की शुरूआत की समस्या, गर्भावस्था के दौरान problem और menopause के दौरान कई सारी problems हो सकती है।

वहीं पुरुषों में hormones के imbalance यानी hormone की कमी के कारण से तनाव (stress) , चिड़चिड़ापन, यौन इच्छा की कमी, नपुंसकता (infertility) , facial hair की growth कम होना और भी कई प्रकार की problems हो सकती हैं।

महिलाओं में हार्मोन असंतुलन के नुकसान mahilaon mein hormone asantulan ke nuksan .

nuksan – खुद आते हैं महिलाओं में hormone के असंतुलन से क्या-क्या नुकसान होते हैं? महिलाओं के body में हारमोंस का imbalance होने से क्या नुकसान होते हैं? Hormone imbalance से होने वाले नुकसान क्या है?

Hormones के imbalance यानी असंतुलन से body में कई सारे नुकसान होते हैं। महिलाओं के body में भी अगर hormones का असंतुलन हो जाए तो इससे कई सारे नुकसान हो होते है।

हार्मोंस के असंतुलन के कारण महिलाओं या females के body में होने वाले कुछ नुकसान है यह-

  1. महिलाओं में चेहरे और शरीर पर अत्यधिक बाल (hair) उगने लग जाते हैं और यह बाल normal बालों के comparison में थोड़े मोटे और काले होते हैं।
  2. अचानक वजन बढ़ने लगता है और मुंहासे यानी pimples होने लगते हैं।
  3. महिलाओं में hormones के imbalance यानी असंतुलन के कारण स्वभाव में भी बदलाव आते हैं।
  4. हारमोंस के imbalance से कारण महिलाओं की योनि (vagina) में सूखापन होने लगता है।
  5. Hormones के imbalance के कारण बदहज़मी और अपच की भी problem हो सकती है।

harmons problem treatment in hindi. हॉर्मोन्स की प्रॉब्लम का treatment कैसे कर सकते हैं?

अब आपको बताते hormones की problem को कैसे treat किया जा सकता है? हॉर्मोन्स की प्रॉब्लम का treatment कैसे कर सकते हैं? Hormones की problem को treat करने का क्या तरीका होता है?

Hormones के संतुलन यानी balance में थोड़ी सी भी गड़बड़ी से इसका सीधा असर (effect) हमारी body और हमारी दिनचर्या पर पड़ता है।

तो चलिए आपको बताते हैं hormones( हॉर्मोन्स) को संतुलित यानी balanced रखने के लिए क्या करना चाहिए।

  1. Green tea का सेवन करना चाहिए क्योंकि ग्रीन टी में थियानाइन प्राकृतिक तत्व होता है और यह hormones को balanced रखने में मदद करता है।
  2. Body में पानी की कमी नहीं होने देनी चाहिए। हारमोंस को balanced रखने के लिए body का hydrated रहना बहुत जरूरी है।
  3. खाने में fresh fruits और green vegetables खानी चाहिए
  4. Hormones को balanced रखने के लिए नारियल पानी (coconut water) भी काफी फायदेमंद(beneficial) माना जाता है।
  5. Daily 2 – 3 gram अश्वगंधा चूर्ण का सेवन करना चाहिए।
  6. योगासन करें। yoga करने से anxiety, depression और नींद ना आने जैसी problems को ठीक किया जा सकता है और इससे hormone imbalance की problem को भी treat किया जा सकता है।
  7. ज्यादा fat वाली चीज है, जो शरीर में एस्ट्रोजन के level को बढ़ाती है,उनका सेवन नहीं करना चाहिए।
  8. ज्यादा fibre वाली चीजें खानी चाहिए क्योंकि ज्यादा fibre एस्ट्रोजन की level को controlled रखता है।

harmons problem solution in hindi. body में hormones की problem है तो उसका क्या solution होता है?

अब आपको बताते हैं hormones की problem का क्या solution होता है? हॉर्मोन्स की problem को कैसे ठीक किया जा सकता है? अगर body में hormones की problem है तो उसका क्या solution होता है?

Hormones हमारे शरीर में एंडोक्राइन ग्रंथियों से स्रावित होते हैं और यह hormone हमारे body में होने वाले सभी क्रियाओं को प्रभावित करते हैं।

Hormone problem के solution के लिए आप यह तरीके अपना सकते हैं।

  1. हॉर्मोंस की problem के solution के लिए अपने खाने में नारियल का तेल यानी coconut oil को शामिल करें।
  2. Oats मे हमारे body के required पोषक तत्वों से भरपूर होता है और यह hormonal imbalance को treat करने में मदद करता है इसीलिए खाने में oats शामिल करें।
  3. दालचीनी से भी हॉर्मोंस के balance को ठीक किया जा सकता है। दालचीनी के powder को चाय में डालकर पीने से hormones balanced रहते हैं।
  4. अपने रोज की खाने में एक कटोरी दही (curd) को शामिल करें। दही में जो good bacteria present होते हैं जो hormones को बैलेंस करने में मदद करते हैं।
  5. Dark chocolate जो है वह हमारे body में एंड्रोफीन hormone  के स्तर को बढ़ाती है और इससे भी hormones balanced रहते हैं।

harmons problem hindi . हॉर्मोंस की प्रॉब्लम क्या होती है?

आपको बताते हैं hormones problem क्या होती है? हॉर्मोंस की प्रॉब्लम क्या होती है? Hormones की प्रॉब्लम कैसे होती है? Hormones( हॉर्मोनस) की problem में क्या होता है?

Hormones जो होते हैं, वे हमारे body के शारीरिक (physical) और मानसिक (mental) गतिविधियों को नियंत्रित करने का काम करते हैं। hormomes की problem का मतलब होता है कि हमारे body में हॉर्मोनस का balance बिगड़ जाना।

Hormones का balance बिगड़ने से मतलब होता है कि body में और मैं उसका कम या ज्यादा बनना। body में हारमोंस के imbalance से होने वाली problems को ही hormonal problems कहा जाता है।

हारमोंस जो है वह हमारी body में growth, development और fertility इन सभी को effect करते हैं।

टेस्टोस्टेरोन की कमी के लक्षण । Body में testosterone हार्मोन की कमी से क्या लक्षण दिखाई देते हैं?

अब आपको बताते हैं टेस्टोस्टेरोन हार्मोन (testosterone hormone) की कमी के क्या लक्षण होते हैं? Body में testosterone हार्मोन की कमी से क्या लक्षण दिखाई देते हैं? टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की वजह से body में क्या बदलाव आते हैं?

Testosterone जो है वह पुरुषों में एक अहम hormone होता है। टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी के कारण पुरुषों में infertility , sex ना करने की इच्छा, सुस्ती, और erection में problem की परेशानियां हो सकती हैं।

तो चलिए अब आपको बताते हैं testosterone की कमी के क्या लक्षण होते हैं। यह लक्षण (symptoms) है जिनसे आप यह पहचान सकते हैं कि आपकी body में testosterone hormone की कमी है।

Testosterone हॉर्मोन की कमी से हमारी body पर physically और mentally दोनों तरह से असर पड़ता है।

  1. ज्यादा थकान (tired) महसूस होना।
  2. चिड़चिड़ापन महसूस होना।
  3. वीर्य ( semen) की मात्रा कम होना।
  4. Male breast बढ़ना।
  5. शरीर पर बालों की growth कम होना और दाढ़ी (beard) कम उगना।
  6. Errection में problem होना, जल्दी से errection ना बनना।
  7. Orgasm में problem होना।
  8. Sex की इच्छा कम होना यानी यौन संबंध बनाने की इच्छा कम होना।
  9. अचानक से(weight gain) वजन बढ़ना ।
  10. Body में ताकत की कमी महसूस होना।

hormones का मतलब in hindi. hormones क्या है Meaning of harmons in human body in hindi

अब आपको बताते हैं hormones का क्या मतलब होता है? Hormones का हिंदी में क्या मतलब होता है? हॉर्मोन्स क्या है? what is hormones?

Hormones जो है मैं हमारी body में मौजूद होने वाली कोशिकाओं में से निकलने वाले chemicals होते हैं। hormones एक कोशिका से दूसरी कोशिका तक chemical signals पहुंचाने का काम करते हैं।

Hormones जो होते हैं वह हमारी body को directly effect करते हैं। हॉर्मोन्स का सीधा असर (effect) हमारे metabolism, reproductive system, immune system और हमारी body growth पर पड़ता है।

hormones के कितने प्रकार होते हैं?

हार्मोन्स के प्रकार – अब आपको बताते हैं hormones के कितने प्रकार होते हैं? Hormomes किन-किन प्रकार की होते हैं? हॉर्मोन्स के कितने प्रकार होते हैं? कितने type के हारमोंस होते हैं?

हमारी body में कई तरह के hormomes मौजूद होते हैं, जो हमारी body की different क्रियाओं पर असर डालते हैं। human body में present हॉर्मोंस के प्रकार हैं यह-

1 . Triiodothyronine (T3)

2 . Thyroxine (T4)

3 . Insulin

4 . Estrogen

5 . Progesterone

6 . Prolactin

7 . Testosterone

8 . Serotonin

9 . Cortisol

10 . Adrenaline

  1. Growth Hormone, somatotropin hormone

hormones meaning in marathi . hormones का मराठी में क्या मतलब होता है?

अब आपको बताते हैं hormones का मराठी में क्या मतलब होता है? हॉर्मोन्स को marathi में क्या बोलते हैं? Hormones को मराठी में कैसे बोलते हैं? क्या हॉर्मोन्स का मतलब मराठी में अलग होता है?

Hormomes का marathi में मतलब same ही होता है। हॉर्मोन्स जो होते हैं वह कोशिकाओं में chemical signals पहुंचाने का काम करते हैं।

यह है hormones के बारे में मराठी में जानकारी-

शरीरातील हार्मोन्सचे संतुलन राखणे गरजेचे आहे हे तर आपणास ठाऊक आहेच. पण ते कसे आणि का संतुलित राखावे हे मात्र आपल्याला ब-याचदा माहित नसते।

hormones बढ़ाने के क्या उपाय होते हैं?

हार्मोन्स बढ़ने के उपाय – अब आपको बताते हैं hormones बढ़ाने के क्या उपाय होते हैं? किन उपायों से हॉर्मोन्स को बढ़ाया जा सकता है? Hormone बढ़ाने के लिए क्या-क्या उपाय किए जाते हैं? किन उपायों को करके hormones के स्तर या level को बढ़ा सकते हैं?

Hormones बढ़ाने के लिए यह उपाय किए जा सकते हैं। इन चीजों को खाने से hormone का स्तर या level शरीर में बढ़ाया जा सकता है।

  1. काजू – काजू का सेवन करने से टेस्टोस्टेरोन hormone का शरीर में स्तर बढ़ाया जाता है। काजू में fat मौजूद होता है, जो testosterone hormone को बढ़ाने में मदद करता है।
  2. अनार – अनार के सेवन से टेस्टोस्टेरोन (testosterone) hormone की कमी को दूर किया जा सकता है। अनार खाने से males की body में शुक्राणु यानी sperm की संख्या बढ़ती है
  3. एवोकाडो – एवोकाडो में magnesium की अच्छी मात्रा होती है, इसलिए इसका use शरीर में hormones बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  4. केला – केले में विटामिन ए (vitamin A) , विटामिन सी (vitamin C) , विटामिन बी1(vitamin B1) मैग्नीशियम (magnesium) और प्रोटीन (protein) मौजूद होते हैं जिनसे शरीर में hormones की मात्रा बढ़ती है।
  5. लहसुन – लहसुन के सेवन से भी शरीर में hormones की मात्रा को बढ़ाया जा सकता है।
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments