किस विटामिन की कमी से नींद नहीं आती है ? तो, ये अपनायें ? neend bhagane ke upay in hindi . vitamin b12 ki kami se kya hota hai .

हमारे शरीर में आने वाले सभी बदलाव हमारी health से जुड़े हुए होते हैं ।कई बार हमारा sharir जब बीमार और किसी तरह की कोई problem mehsoos करता है, तो हमें उसके signs देने शुरू कर देता है। vitamin b12 ki kami se kya hota hai .

कई बार हम इन signs को नजरअंदाज यानी ignore कर देते हैं जिसकी वजह से आगे जाकर इसके कारण कई सारी बड़ी problemsहो सकती हैं।

आज के इस article में हम ऐसे ही एक topic से ऊपर बात करेंगे ।आज का हमारा topic है vitamin b12 की कमी की वजह से neend na aane की परेशानी के बारे में।

अक्सर ऐसा होता है कि आपने कई बार देखा भी होगा की कई लोगों को neend na aane की परेशानी होती है ।वह पूरी पूरी raat जागकर दिन में भी neend नहीं लेते हैं ।यह तो हम सभी जानते हैं कि अगर neend पूरी नहीं होती तो उसकी वजह से कई तरह की problemsहोती हैं।

नहीं पूरी ना होने की वजह से हर समय थकान mehsoos होती है और किसी तरह का कोई काम नहीं किया जाता है ।

तो चलिए सबसे पहले आपको बताते हैं किस vitamin की कमी से neend na aane की परेशानी होती है या neend नहीं आती है।

नींद ना आने की परेशानी vitamin B12 की कमी से होती है। अगर आपको ऐसा लगता है कि इस vitamin की कमी से सिर्फ neend न आने में pareshani होती है ,तो आपका यह मानना बिल्कुल गलत है क्योंकि vitaminB12 की कमी से अन्य भी कई तरह की problems होती हैं।

Vitamin B12 की कमी से शरीर में यह सभी प्रकार की problems होती हैं।

  1. हाथ पैर में होती है झुनझुनी – अगर आपके pero में jhunjhuni होती है या आपको हाथों में भी झुनझुनी हो रही है तो ये vitaminB12 की कमी के कारण हो सकता है।
  2. पैरों में रहता है दर्द – पैरों में दर्द को भी इसकी कमी के कारण ही महसूस किया जाता है। अगर आप उन लोगों में से हैं जिन्हें pero में काफी दर्द महसूस होता है तो ये परेशानी आपको vitamin B12 की कमी के कारण mehsoos होता है।
  3. नींद ना आना – इस बारे में तो हम आपको बता ही चुके हैं। अगर आपको neend नहीं आती है या आने के बाद एकदम से टूट जाती है तो ये vitamin B12 की कमी के कारण ही होता है।
  4. डाइजेशन में होती है परेशानी – digestionयानी पाचन से जुड़ी किसी भी problems को ठीक करने में ये vitamin काफी helpful है। इसके अभाव में आपको काफी परेशानी आती है।

अगर आप अच्छी नहीं चाहते हैं तो अच्छी neendके लिए यह vitamins और minerals अपनी diet में जरूर शामिल करें।

1.विटामिन D
2.आयरन
3.मैग्नीशियम
4.विटामिन B
5.विटामिन ई
6.कैल्शियम

नींद का संगीत –

अब आपको बताते हैं नींद के लिए कौन सा sangeet होता है ?नींद के लिए कौन सा संगीत सुनना चाहता है? किस sangeet को sunne से नींद आती है ?नींद का संगीत कौन सा होता है ?कौन से sangeet को neend का संगीत कहा जाता है?

अच्छी नींद के लिए हल्का संगीत यानी कि soft music सुना जाता है। जो दिमाग और मन को शांति यानी peace देता है ।

यह माना जाता है कि music सुनते हुए सो जाना कई बार achi neend के लिए बेहतर होता है। कई बार संगीत यानी music को अच्छी neendके लिए therapy की तरह प्रयोग करते हैं। यह achi neend के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला बहुत ही aasan तरीका है।

कई बार इंसोमनिया यानी नींद ना आने की problem के treatment में music का प्रयोग किया जाता है। कई लोग ऐसे हैं जो अच्छी neend के लिए पहले ही हल्के संगीत को सुनते हैं।

अच्छी neend के लिए हल्के संगीत यानी soft music को सुनना अच्छा है लेकिन हमेशा इस विधि का ही प्रयोग करना कितना सुरक्षित है कहना मुश्किल है। क्योंकि कई लोगों को shanti पसंद होती तो यह नहीं कहा जा सकता कि यह tarika सभी के लिए सही है।

otocin c ear drops uses in hindi .

अब आपको बताते हैं otocin c ear drops के क्या use होते हैं? Otocin c ear drops के क्या इस्तेमाल होते हैं ?otocin c ear drops किस लिए use किया जाता है? Otocin c ear drops क्या क्या होते है? Otocin c ear drops जो होते हैं उनका use क्या है?

ऑटोसिन इअर ड्राॅप (Otocin Ear Drop) एक anti bacterial दवा है, जिसका इस्तेमाल कान के बाहरी हिस्सों को प्रभावित करने वाले bacteria के संक्रमण का ilaaj करने के लिए किया जाता है।

ऑटोसिन इअर ड्राॅप (Otocin Ear Drop) जो है वह लिडोकेन / लिग्नोकाइन, बीक्लोमेटासोन, क्लोट्रिमेज़ोल और क्लोरैम्फेनिकॉल से बने होते हैं।

यह दवा जो है वह नसों से मस्तिष्क यानी brain तक दर्द signs को अवरुद्ध करके काम करती है जिससे dard संवेदना कम हो जाती है। यह कुछ रासायनिक दूतों (प्रोस्टाग्लैंडिंस) के उत्पादन को भी अवरुद्ध करता है जो कान को लाल, सूज और खुजली करते हैं।

कान के infection के अलावा और टशन सीएडॉप्ट का इस्तेमाल इन सभी problems के लिए भी किया जाता है।

  • सुन्नता
  • मुंह के छाले
  • खुजलीजलन
  • कान से जुड़ी अन्य problems

neend bhagane ke upay in hindi .

अब आपको बताते हैं neend bhagane ke क्या upay होते हैं? किन उपायों को करने से neend bhaga सकते हैं ? Neend ko bhagane के upay क्या होते है? Neend ko bhagane के लिए किन उपायों का इस्तेमाल किया जाता है? Neend ko bhagane वाले उपाय कौन-कौन से होते हैं?

ऐसे upay जिनको करने से आप आसानी से neend ko bhaga सकते हैं वह upay हैं यह-

1.फलों का सेवन : यदि आपको अपनी neend भगानी है तो अपनी diet में इन फलों का सेवन जरूर करें जैसे केला, green tea, सीताफल, ओटमील, dahi , तरबूज, अखरोट, beans, पालक आदि। Neend ko bhagane में यह पाए बहुत ही ज्यादा effective माना जाता है।

2.म्यूजिक सुने : यदि आपको neend आती है तो आप थोड़ी देर के liye music सुने। उससे आपकी नींद कुछ देर में ही दूर हो जाएगी। ऐसा music सुने जो आपको energy प्रदान करे। ज्यादातर loud music का इस्तेमाल neend ko bhagane के लिए किया जाता है यदि संभव हो, तो साथ में अपना सर हिलाये या फिर गुनगुनाये, ज्यादा तेज संगीत न सुने।

3.पेय पदार्थ का सेवन करें : अपनी दिनचर्या में थोड़ा-थोड़ा pani या कोई तरल पदार्थ का सेवन करें। इससे body से harmful तत्व बाहर निकलते हैं और body में ऊर्जा भी बनी रहती है। और शरीर में energy बनी रहने की वजह से neend भी काम आती है।

4.संतुलित मात्रा में आहार : यदि आप एक balanced मात्रा में खाना खाते है तो ये आपके लिए अच्छा होगा क्योंकि ज्यादा khane से भी neend आती है और खाना खाने से आलास भी ज्यादा रहता है। पुरे body में जिसकी वजह से आपको बार-बार उबासी आती रहती है और neend की झपकी आती है। इसी वजह से आपने कई बार देखा होगा कि दोपहर के khane के बाद थकान mehsoos होती है और neend आती है।

5.रोजाना करें व्यायाम : व्यायाम yani yoga हमारी life का ही एक महत्वपूर्ण हिस्सा है ।व्यायाम करना health के लिए बहुत ही beneficial होता है । यह हम सभी जानते हैं कि योग से कई तरह की बीमारियां (diseases) दूर हो जाती है | इसके अलावा यह हमारे body को healthy बनाने में भी help करता है ।जो इंसान रोजाना व्यायाम करता है वह mental व physical दोनों तरीके से fit रहते है।

nind nahi aati . raat ko neend nahi aati .

अब आपको बताते हैं raat ko neend na aane के क्या कारण होते हैं ? Raat ko neend नहीं आती इसकी क्या वजह होती है ?रात को neend ना आने की वजह क्या होती है ?अगर किसी को raat ko neend नहीं आती तो उसका कारण क्या होता है ?किस reason की वजह से raat ko neend नहीं आती है?

कई लोगों को raat me neend na aane की परेशानी होती है, वह पूरी पूरी raat जागकर निकाल सकते हैं। परंतु यह कोई आम बात नहीं है यह body में किसी problem का संकेत हो सकता है।

मगर इस परेशानी को ठीक करने के लिए पहले आपको उसके कारण पता होने important हैं, अगर रात को नींद ना आने (raat ko neend na aana) की problem है और आपको raat ko neend nahi aati तो इसके पीछे ये कारण हो सकते हैं-

तनाव (stress) – stress यानी तनाव शरीर में कई सारी problemsका कारण हो सकता है इसी के साथ साथ neend ना आने के पीछे सबसे अहम वजह तनाव हो सकती है। तनाव होने पर body में कोर्टिसोल का level बढ़ जाता है जो कि एक stress hormone है।

इसके कारण शरीर aaram की स्थिति में नहीं रह पाता और brain active रहता है जिससे neend आना मुश्किल हो जाता है। क्योंकि neend के लिए brain का rest करना बहुत ही जरूरी होता है । Research भी बताती हैं कि तनाव को neend ना आने का सबसे बड़ा कारण माना जाता है।

अगर आप अपनी raat ko neend na aane की problemको ठीक करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने stress के कारण को दूर करें।

स्लीप एप्निया (Sleep Apnea)

Sleep apnea जो है वह एक स्लीप sleep disorder (नींद विकार) है जिसके कारण या तो neend पूरी नहीं होती या पूरी neend के बाद भी आप थका-थका mehsoos करते हैं।

इस disorder में रात में सोते वक्त बार-बार saans लेने में problem होने के कारण बार-बार neend खुल जाती है जिससे आप quality sleep (बढ़िया नींद) नहीं ले पाते हैं और अधिक समय सोने के बाद भी अगले दिन आलस महसूस होता है।

vitamin b12 in hindi .

अब आपको बताते हैं विटामिन B12 क्या होता है? Vitamin B12 किसे कहते हैं ? Vitamin B12 का क्या काम होता है ? Vitamin B12 कैसे use किया जाता है ? Vitamin B12 कौन सा vitamin होता है ? Vitamin B12 का use क्या होता है?

Vitamin b-12 जिसे कोबालमिन भी कहते हैं, हमारे brain के लिए सबसे important पोषक तत्वों में से एक है। चिंताजनक बात यह है कि इसकी kami से होने वाले नुकसान अपरिवर्तनीय हैं। शरीर में इस vitamin की कमी से कई तरह की problems होती हैं अपनी परेशानियों में से एक है नींद ना आना।

Vitamin B12 होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए आपके लिए यह जानना जरूरी है कि इसके reasons क्या है, जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया vitaminB12 जो है वह हमारे brain के लिए बहुत ही important nutrient होता है।

नींद के अलावा vitamin B12 की कमी से khoon की कमी यानी anaemia की problem भी हो सकती है। इसके अलावा vitamin b12 की body में कमी होने की वजह से थकान और memory की problem भी हो सकती है।

vitamin b12 ki kami se kya hota hai .

अब आपको बताते हैं vitamin B12 की कमी से क्या होता है ?अगर body में vitamin b12 की कमी होती है तो उससे क्या होता है ? Vitamin B12 की कमी होने से क्या problems होती हैं? Vitamin B12 कमी से होने वाली परेशानियां कौन-कौन सी हैं?

शरीर में यूं तो vitamin B12 की कमी से कई सारी परेशानियां होती हैं। कई बार यह problems मामूली होती है तो कई बार कुछ गंभीर परेशानियां होती हैं।

अगर आपके शरीर में vitamin b12 की कमी है तो ऐसे में आपको anaemia, tiredness, स्मृति ह्रास, मिजाज बिगड़ना, चिड़चिड़ापन, झुनझुनी या हाथ-पैरों में अकड़न, आई sight problem, मुंह के छालों, constipation, diarrhea, मस्तिष्क संबंधी बीमारियां और infertility जैसी की problems हो सकती हैं।

Vitamin b12 की कमी की वजह से कई तरह की bimari होती है। यह vitamin body के लिए बहुत ही जरूरी है क्योंकि अगर body में इसकी कमी हो गई तो कई बार इसकी वजह से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।

Vitamin B12 जो है वह brain के लिए बहुत ही important nutrient माना जाता है । Vitamin B12 हमारे health में एक बहुत ही अहम रोल play करता है

neend na aane ki bimari .

अब आपको बताते हैं neend na aane ki bimari कौन सी होती है ?neend नहीं आने पर कौन सी bimari होती है? Neend na aane ki bimari कौन सी होती है ?नींद ना आने पर कौन सी bimari होती है ?कौन सी bimari में neend नहीं आती है?

Neend na aane ki bimari को insomnia कहा जाता है। इस बीमारी में व्यक्ति को बिल्कुल भी neend नहीं आती है और इस वजह से शरीर हर समय थकान और सुन्न mehsoos करता है।

Neend हमारे शरीर को अलग-अलग तरह से effect करती है स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त neend सोना जरूरी है, लेकिन आजकल कई लोग अनिद्रा की problem से जूझ रहे हैं। इस बीमारी को english में इंसोमनिया (Insomnia) कहा जाता है।

Insomnia एक प्रकार का नींद संबंधी विकार यानी disorder है। इसमें व्यक्ति को sone में असुविधा, neend की कमी या नींद पूरी नहीं हो पाने की problem रहती है। इस बीमारी में raat को नींद पूरी नहीं हो पाती है। सांस लेने में problem या body में बेचैनी की वजह से neend नहीं आ पाती है ।

neend na aane ke karan. नींद न आने के कारण

अब आपको बताते हैं neend na aane के कारण क्या होते हैं? Raat को नींद नहीं आने के क्या-क्या कारण होते हैं?किन कारणों की वजह से neend नहीं आती है? Neend ना आने के कारण कौन से होते हैं ?किन कारणों की वजह से neend नहीं आती है ?neend na aane वाले कारण कौन से होते हैं?

Neend na aane के कई सारे कारण हो सकते हैं परंतु इसमें कुछ अहम कारण होते हैं यह-

  1. सोने की timing में changes – कई बार ऐसा होता है कि हम अपने regular सोने के time पे नहीं सो पाते तो यह भी neend नहीं आने का कारण हो सकता है।
  2. Light या shor की वजह से- light या अधिक शोर में neend ना आने की problem बहुत ही आम होती है ।यह भी neend ना आने का एक कारण होता है।
  3. ज्यादा caffine का सेवन करना ज्यादा caffine के सेवन से neend ना आने की problem होती है।
  4. ऐसी दवाइयों (medicines)का ज्यादा सेवन करना जिनकी वजह से neend ना आने की problem होती है।
  5. दोपहर के time में नींद या झपकी लेने की वजह से भी रात को neend ना आने की problem हो सकती है।

नींद आने के उपाय

अब आपको बताते हैं नींद आने के लिए gharelu upay क्या है ?क्या upay करके neend की परेशानी को दूर कर सकते हैं ?नींद आने के upay क्या है? किन उपायों से neend आती है? किन उपायों को करने से neend आने लग जाती है?

अगर किसी व्यक्ति को neend ना आने की परेशानी है और वह इससे बहुत ही pareshan हैं तो किसी dawai का सेवन किए बिना ही वह कुछ upayo से इस परेशानी को दूर कर सकता है।

अगर रात के समय neend टूट जाती है या अच्छी नींद आने में परेशानी हो रही हो तो कुछ gharelu upay किये जा सकते हैं I

  • 1.तेल मालिश करें – सिर और पैर पर bhringraj का tel लगाने तथा उससे massage करने से achi neend aane में मदद मिलती है I
  • अपनी दिनचर्या को sahi करें और khaneऔर सोने का एक नियमित time बांध लें।
  • 3.गर्म doodh का सेवन करे ।
  • 4.जायफल का सेवन करे ।
  • Doodh में kesar डालकर पीना भी सेहत के लिए तो अच्छा होता ही है। परंतु इसके अलावा यह neend के लिए भी काफी अच्छा होता है।

नींद आने का रामबाण उपाय।

अब आपको बताते हैं नींद ना आने का रामबाण upay क्या है ? neend नहीं आने पर किस उपाय को कर सकते हैं? नींद आने का ramban upay क्या है? Neend न आने की परेशानी को ठीक करने का रामबाण upay कौन सा है?

Neend आने के लिए रामबाण upay है गर्म दूध का सेवन। रोजाना garm दूध का सेवन करने से अच्छी neend आती है एक।cup गर्म दूध में आधा चम्मच dalchini का powder मिलाकर सोने से पहले पी लें I

Garm दूध का सेवन तो beneficial है ही और अगर इसमें जायफल powder मिलाकर पिएंगे तो अनिद्रा की problem भी दूर होगी I sone से पहले एक cup गर्म दूध में जायफल का powder मिलाकर पिएं I

nind aane ki gharelu dawa hindi –

अब आपको बताते हैं नींद आने की घरेलू दवा क्या होती है ?नींद आने की घरेलू दवा कौन सी है ?नींद के लिए कौन सी gharelu दवा ली जा सकती है ?कौन सी gharelu dawa के इस्तेमाल से नींद आती है ? Neend आने की gharelu दवा क्या है?

हमारे ghar में ऐसी कई सारी चीजें होती हैं जिनका इस्तेमाल सिर्फ khane में ही नहीं होता बल्कि इनके और भी कई सारे fayde होते हैं। ऐसी ही कुछ चीज़े जिनके use से neend की परेशानी को ठीक किया जा सकता है वह है यह-

1.चेरी -cherry में प्रचुर मात्रा में melatonin होता है जोकि शरीर के आंतरिक चक्र को regular करने में मदद करता है I

2.दूध-raat को bistr पर जाने से पहले एक गिलास गर्म doodh पीना काफी beneficial हो सकता है ।

3.केला – kele में कई सारे पोषक तत्व होते हैं और इसी के साथ साथ ही यह neend की समस्या के लिए भी बहुत ही ज्यादा beneficial होता है।

4.बादाम- बदाम हो याददाश्त बढ़ाने के लिए खाया जाता है परंतु badam का इस्तेमाल neend aane यानी नींद की problem को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।

5.हर्बल चाय- herbal tea health के लिए बहुत ही अच्छी रहती है। Neend की problem को ठीक करने के लिए भी herbal चाय का use किया जाता है।

neend aane ke totkay .

अब आपको बताते हैं neend aane ke totkay क्या होते हैं ? किन टोटकों से neend आती है? किन totko को करके neend की परेशानी को ठीक कर सकते हैं? Neend aane ke totkay क्या होते हैं? किन totko को करने से neend आती है?

यह है कुछ neend aane ke totkay –

1- यदि किसी को neend न आती हो तो सोने से पहले हाथ-पैर धोकर bistr पर बैठकर इस mantra का जप 7 बार करके बिस्तर पर लेट जाए। ऐसा करने से neend न आने की problem हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।

अगस्तिर्माधवश्चैव मुचुकुन्दो महाबल:।
कपिलो मुनिरास्तीक: पंचैते सुखशायिन:।।

2- रात को सोने से पहले इस mantra का जप 3 या 5 baar करके सो जाए बुरे स्वप्न आना बंद हो जायेंगे।

या देवी सर्वभूतेषु निद्रारूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

3- सोते समय bistr पर आंख बंद करके बैठ एकाग्रचित्त होकर 5 baar गहरी सांस लेने के बाद इस प्रार्थना को मन ही मन बोले- मैं shant और संतुलित हूं। मेरे मन में किसी प्रकार की चंचलता, व्याकुलता या burai नहीं है क्योंकि मेरे अंदर साक्षात् ईश्वर विराजमान हैं।

achi neend ke liye kya kare .

अब आपको बताते हैं achi neend ke liye kya karna चाहिए? Achi neend के लिए क्या कर सकते हैं? अच्छी नींद के लिए क्या upay करने चाहिए? Achi neend ke liye किए जाने वाले upay कौन से हैं? क्या करके अच्छी neend ली जा सकती है?

Achi neend ke liye सबसे जरूरी है कि आप अपने सोने का एक time बांध ले क्योंकि सही समय पर सोने से हमारी health पर बहुत ही अच्छा असर पड़ता है। इसी के साथ साथ अगर sone से पहले सर में और पैरों में अच्छे से tel की massage की जाए तो बहुत ही अच्छी neend आती है।

Achi neend ke liye रात को soneसे पहले दूध का सेवन किया जाता है। परंतु अगर doodh का सेवन जायफल के powderके साथ किया जाए तो यह बहुत ही ज्यादा beneficial रहता है।

नींद आने की दवा पतंजलि

अब आपको बताते हैं नींद आने की patanjali dawa कौन सी होती है? पतंजलि की कौन सी दवा नींद आने के लिए use की जाती है? Neend आने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली patanjali की दवा कौन सी है? कौन सी पतंजलि dawa का use नींद आने के लिए किया जाता है?

अश्वगंधा का मिश्रण अच्छी नींद के लिए फायदेमंद (Ashwagandha Beneficial for Good Sleep in Hindi) -सर्पगंधा और अश्वगंधा को बराबर quantity में लेकर churan बनाकर रख लें। रात में सोते time 3-5 gram की मात्रा में यह churan पानी के साथ लेने से neend अच्छी आती है।

नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय।

आपको बताते हैं नींद आने की आयुर्वेदिक upay क्या होते हैं ?कौन से आयुर्वेदिक उपायों के use से neend ना आने की परेशानी को ठीक किया जा सकता है? Neend आने के लिए ayurvedic upay कौन से होते हैं?

1.तेल मालिश

सिर और पैर पर bhringraj का तेल लगाने तथा उससे massage करने से अच्छी neend आने में मदद मिलती है। इस tel से मालिश करने पर nerves system को आराम मिलता है।

2.दिनचर्या करें सही

यह एक बहुत ही जरूरी upay है। समय पर सोने के लिए बिस्तर पर जाना अच्छी neend के लिए important है। अगर time पर सोने की कोशिश नहीं करेंगे तो अनिद्रा की problem और बढ़ सकती है।

3.गर्म दूध का सेवन

दूध में ट्रिपटोपॉन( triptopone) होता है जो कि neend को बढ़ाने में मदद करता है। रोजाना गर्म doodh का सेवन करने से अच्छी neend आती है। एक cup गर्म दूध में आधा चम्मच दालचीनी का powder मिलाकर सोने से पहले पी लें।

4.जायफल

गर्म doodh का सेवन तो beneficial है ही और अगर इसमें जायफल powder मिलाकर पिएंगे तो अनिद्रा की problem भी दूर होगी। सोने से पहले एक कप garm दूध में जायफल का powder मिलाकर पिएं।

5.केसर से करें इलाज

Neend का इलाज करना है तो kesar भी काम आ सकती है। एक cup गर्म दूध में दो चुटकी केसर मिलाकर इसे पिएं।केसर में ऐसे घटक मौजूद होते हैं जो immune system को फायदा पहुंचाते हैं।

गहरी नींद की आयुर्वेदिक दवा।

अब आपको बताते हैं गहरी नींद की ayurvedic दवा कौन सी है? कौन सी आयुर्वेदिक dawa को गहरी नींद के लिए use किया जाता है? गहरी neend के लिए इस्तेमाल की जाने वाली ayurvedic dawa कौन सी है? कौन सी आयुर्वेदिक दवा को गहरी नींद लेने के लिए use करते हैं?

गहरी neend के लिए सर्पगंधा और अश्वगंधा के churan से बनाई हुई दवा का use किया जाता है। यह एक ayurvedic दवा होती है।

सर्पगंधा और ashwagandha की आयुर्वेदिक दवा को इस विधि से तैयार कर सकते हैं।

-सर्पगंधा और अश्वगंधा को बराबर मात्रा में लेकर churan बनाकर रख लें। रात में सोते time 3-5 gram की मात्रा में यह churan पानी के साथ लेने से neend अच्छी आती है।

मजबूत नींद की गोलियां नाम

हम आपको बताते हैं मजबूत neend की गोलियों के नाम क्या क्या है? कौन-कौन सी नींद की goliyan है जो बहुत ही मजबूत होती है? Majboot नींद की गोलियां कौन सी है? मजबूत नींद की गोलियों के क्या नाम है?

सबसे मजबूत neend की गोलियां जिनका इस्तेमाल नींद ना आने की problem के लिए किया जाता है वह है यह-

1.Welonox sleeping tablets

2.Jiva sleep well tablet

यह दोनों ही dawa बहुत ही ज़्यादा strong होती है, इसीलिए इनका इस्तेमाल बिना doctor के prescription के नहीं करना चाहिए।

नींद के लिए योग

अब आपको बताते हैं नींद के लिए किए जाने वाले yoga कौन से हैं? कौन से योग नींद के लिए किए जाते हैं? नींद के लिए किए जाने वाले योग कौन-कौन से हैं? कौन-कौन से योग neend के लिए किए जाते हैं? Neend आने के लिए किए जाने वाले yoga कौन से हैं?

नींद आने के लिए किए जाने वाले yoga हैं यह-

1.विपरीत करणी आसन

तरीका – इस aasan को करने के लिए yoga मैट पर आराम से लेट जाएं। अब अपने hatho को सीधा जमीन पर रखकर पैरों को ऊपर की ओर उठाना शुरू करें। pero को इतनी उंचाई पर उठाए कि 90 degree का कोण बन जाए। पैरों के साथ ही नितंबों को भी ऊपर की तरफ उठाकर उसके नीचे तकिया (pillow) रख लें। अब इस position में करीब 5 minute तक रह सकते हैं।

2.बालासन

तरीका – balasan करने के लिए सबसे पहले आप व्रजासन की अवस्था (position) में बैठ जाएं। इसके बाद अपने माथे को जमीन पर लगा लें। अब अपने दोनों haatho को जमीन पर रख लें। अब अपनी जांघो (thighs) से अपनी छाती पर दबाव यानी pressure डालें। इस अवस्था में आप 2-4 minute तक रह सकते हैं। इस आसन को करने से दिमाग और मन शांत रहता है। दिमाग से stress दूर होने लगता है। जिसकी वजह से आप अच्छी neend ले पाते हैं।

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments