खुश रहने के 15 जरूरी मूल मंत्र

जिंदगी मेे खुशी हासिल करना इंसान के मुख्य लक्ष्यों मे से एक है इसकी झलक हमारे प्रतिदिन के कामों मे साफ दिखाई देती है । जाने-अनजाने हम खुशी ( Happiness ) को ही मुख्य लक्ष्य बना कर अपनी लाइफ व्यवस्थित करते है लोग कढी मेनहत और परेशानियां इसलिए झेलते है क्योकि उन्हे उम्मीद होती है की हमारी मेहनत एक दिन रंग लायगी और इसका फल हमे भविष्य मे खुशी के रूप में मिलेगा |

लेकिन खुश रहने के लिए आपको किसी व्यक्ति, घटना, जगह या फिर किसी खास समय की जरूरत नही है अगर आप चाहें तो अभी इसी समय खुश हो सकते हैं । टॉनी रॉबिंस अपनी बेस्ट सेलिंग किताब Awaken the giant within मे लिखते है की खुशी यानि Happiness एक मानसिक दशा है जिसे आप खुदके द्वारा ही विकसित कर सकते है ।

खुशी बहार से नही आती, इसे कोई व्यक्ति नही दे सकता, इस पर किसी अकेले का अधिकार नही है, ये एक जीने का तरीका है ।

ऐसे लोगो की कोई कमी नही हैं जो कुछ न होने के बाद भी हर समय खुशी से भरे रहते है, वहीं ऐसे लोगों की भी भरमार है जो सबकुछ होने के बाद भी रोते रहते हैं । वो ऐसे लोगों की तरह हैं जो रोशनी के घर मे होने मे के बाद आँखे बंद कर के कहते है की “यहां तो बहुत अधेंरा है” |

हाल की कई रीसर्चों मे भी ये बात साबित हो चुकी है की जो लोग बडे़-बडे़ लक्ष्य बनातें है वो उन लक्ष्यों को हासिल करने के बाद भी खुश नही हैं ।

ये बात तो उसी तरह हुई की एक व्यक्ति को सोने ( Gold ) का जंगल दिया गया लेकिन वो खुश नही है क्योकि उसके पास एक ओर जंगल नही है । इसलिए हमें जिदंगी जीने के तरीके के बारे मे सोचना चााहिए कहीं ऐसा तो नही जिस तरह हम जी रहे है वो हमारी कीमती जिंदगी की वर्बादी हो ।

आशाओ और कामनाओ का बोझ कहीं हमारी संतुष्टि और खुशी ( satisfaction and happiness ) को तबाह न कर दे । केवल बैंक अकाउटं फुल होने से कोई व्यक्ति सफल नही हो जाता, बल्कि सफल व्यक्ति वही है जिसका खुशी का अकाउटं, स्वास्थ्य का आकउटं और रिश्तों का अकाउटं भी फुल हो । क्योकि हम पैसा इसलिए कमाते है ताकि इससे हमारी बुनियादी जरूरतें पूरी हो जाए और हमारे चहाने वालो को खुशियां दी जा सकेें ।

लेकिन आज ज्यादातर सफल लोग खुश नही हैं, बड़े व्यापार और दौलत ने उन्हे मानसिक बोझ, डिप्रेशन तथा अनिद्रा का शिकार बना दिया है । लेकिन हमे किसी से क्या लेना-देना ? हम तो यहां आपकी आपकी खुशी की बात कर रहें, इसलिए हम यहा आपको खुश रहने के 15 तरीके और आदतें बता रहे है जो आपकी खुशी का लेवल ( Level of happiness ) को बढाएगे |

आपको केवल इस आर्टिकल को पूरे ध्यान से लास्ट तक पढ़ना है, मै आपसे वादा करता है की इस आर्टिकल को पढ़ने बाद आपकी जिंदगी पहले जैसी कभी नही रहेगी ।

खुश कैसेे रहें ( Khush kaise rahe )

 

kush kaise rahe
kush kaise rahe

 

जैसा की मेने पहले कहा खुशी अन्दर से आती है । जिस चीज का हम लगातार अभ्यास करते है वो एक आदत बन जाती है । अगर हर समय खुश रहने का अभ्यास किया जाए तो ये भी एक आदत बन सकती है, न्यूरोलॉजिस्ट वैज्ञानिकों के अनुसार जिस काम या भावना को हम लगातार दोहराते रहते है उसके हमारे दिमाग मे न्यूरल पाथवेस ( Neural pathways ) बन जाते है ।

जिसके बाद वो भावना या काम हमारे स्वाभाव ( Nature ) का हिस्सा बन जाता है । यहां हम आपको खुश रहने के 15 तरीके ( Khush rehne ke tarike ) बता रहे हैं जिनके प्रयास से आपको खुश रहने की कोशिश नही करनी पडेगी बल्कि खुशी आपकी मानसिक दशा ( State of mind ) बन जाएगी ।

*. 1~ दुख को बहार निकालें *

देखिये जब तक आपके अन्दर खुदके प्रति किसी प्रकार की ग्लानी, अप्रसन्नता, पछतावा और गुस्सा है तब तक आपको सात जन्मों में भी कोई खुश नही बना सकता है । अगर आपकी लाइफ इस समय बिल्कुल सामान्य चल रही है तो इस तरीके को छोड दें |

लेकिन अगर आपसे कोई बड़ी गलती हो गई है या जीवन मे कोई बड़ा दुख है तो पढ़ते रहिये ।

अब आपको दो काम करने है, सबसे पहले खुदको अतीत की सभी गलतीयों के लिए माफ कर दें, वो आप का अतीत था जो गुजर गया उसके पछतावे मे आपना आज वर्बाद मत करिये और दूसरा है की अगर आपको किसी ने धोखा दिया है, कोई करीबी आपसे दूर चला गया है किसी चीज या घटना को लेकर दिल मे खम भरा हुआ है तो उसे आँसूओ के साथ बहा दे ।

अपने दुख और पछतावे को थोडी देर रोकर बहा दे । मुझे पता है की ये आपको थोडा अटपटा लग रहा होगा लेकिन जब तक दुख आपके दिल मे रहेगा तबतक खुशी नही आ सकती जिस तरह दो तलवारें एक मियान में नही रह सकती उसी तरह दो विपरीत भावनाए एक साथ मन मे नही रह सकती |

रोने को हमारा समाज बहुत बुरा मानता है खासकर लडकों के रोने पर तो पबंदी है । लेकिन हमें ये नही भूलना चाहिये की जिस तरह हँसी स्वाभाविक ( Natural ) उसी तरह रोना भी प्राकृति है | कल्पना किजिए की आप किसी व्यक्ति से गढ्ढे मे भरे गन्दे पानी को निकाल कर उसमे साफ पानी भरने को कहते है ।

लेकिन वो व्यक्ति उस गन्दे पानी मे साफ पानी डाल रहा है तो क्या इस तरह उस गढ्ढे का गन्दा पानी साफ हो जाएगा? जी नही ! बल्कि वो गन्दा पानी उस साफ पानी को भी गन्दा कर देगा । उसी तरह जब हम दुखी मन पर खुश रहने की कोशिश करेंगे तो वो दुख खुशी को भी दुख मे रूपातंरित ( Transform ) कर देगा । इसलिए खुदको अतीत की गलतियों के लिए माफ कर दें और किसी अकेली जगह पर जाकर थोडी देर रो लें इससे आपके मन का बोझ हलका हो जाएगा और आपको शांती भी मिलेगी |

*. 2~ खुशी पर फोकस करिये *

आपको एक दिन के लिए सिर्फ एक दिन के लिए उन सभी चीजों पर फोकस करना है जो लाल रंग की हैं, आपको जो भी लाल रंग के पोस्टर, कारें और वस्तुए दिखाई दें उन पर थोडा फोकस करें | आप देखेगे की शाम तक आपका ध्यान खुद ब खुद लाल रंग की चीजों पर जा रहा है । जहां बिल्कुल भी लाल रंग नही होगा वहा पर भी आपको लाल रंग दिखना शुरू हो जाएगा यानि आपका लाल रंग के साथ एक रिश्ता बन जाएगा ।

आपको खुद लाल रंग की चीजें दिखाई देगी In fact आपको लगेगा की लाल रंग आपको खुद बुला रहा है । जिस तरह लाल रंग की चीजें आपके आस-पास पहले भी थी लेकिन फोकस करने के बाद नज़र आने लगेगी उसी तरह खुशियां भी आपकी जिंदगी मे भरी पडी हैं ।

आपको केवल उन पर फोकस करना है और उनको Enjoy करना है कुछ समय बाद आप पाएगे कि आपको खुशियां खुद बुला रही हैं जहां लोग परेशान होंगे वहां पर भी आप खुश रहने के बहाने ढूँढ़ लेगे ।

*. 3~ Gratitude करिये *

जैसा की मेने पहले कहा आपके आस-पास बहुत खुशियां है आपको केवल उन पर फोकस करना है इसकी शुरूआत अगर आप सुबह कर दें तो ज्यादा अच्छा रहेगा ।

आप सुबह अपनी लाइफ के प्रति Gratitude जता कर इसकी शुरूआत कर सकते हैं Gratitude exercise को करने के लिए एक कॉपी-पेन लें और कॉपी पर कम से कम एक ऐसी चीज के बारे मे लिखिए जिसके प्रति आप एहसान मंद है

वो चीज कितनी भी छोटी हो सकती है जैसे- आप लिख सकते हैं की मै उस ऊपर वाले के प्रति एहसान व्यक्त करता है जिसने मुझेे इतना प्यार करने वाले माँ-बाप दिए | आप चाहे तो कितनी भी छोटी चीज के बारे मे लिख सकते हैं जैसे- सुहावना मौसम, अच्छा स्वास्थ, या प्यार करने वाली पत्नी / पति |

*. 4~ वर्तमान मे जीना सिखिये *

आज ज्यादातर लोग अपनी जिंदगी अतीत या भविष्य मे जी रहे हैं । जिसके कारण वर्तमान ( Present ) मे खुशियां होने के बाद भी उन्हे वो नज़र नही आती । इसी भूल के कारण मेने भी अपना काफी समय वर्बाद कर दिया लेकिन मुझे खुशी है की वक्त रहते मुझे होश आ गया ।

जब लोगो से कहा जाता है की वर्तमान मे रहिये और अपने विचारों को थाम कर वर्तमान को लाइफ का केन्द्र बनाये तो वो कहते है, अतीत से मेरी पहचान जुडी हुई है मै उसे नही भूल सकता लेकिन अतीत गुजर गया, अब आप उसके बारे मे कितना भी सोच लो या कितना भी पछता लो वो वापिस नही आने वाला बल्कि आप अतीत के कारण अपना वर्तमान भी दुख से भर लेगे ।

वहीं कुछ लोग भविष्य मे जीते हैं । वो भविष्य के लिए बडे़-बड़े Goals बनाते हैं और अपनी खुशी को भविष्य पर टाल देते है उनका मानना है की जब मै उस लक्ष्य तक पहुच जाऊगा तब मुझे खुशी मिलेगी । लेकिन जब वो उस लक्ष्य तक पहुचते है तो उन्हे उतनी खुशी नही मिलती जितनी खुशी की उन्होने उम्मीद की थी ।

लेकिन जब उन्हे समझाया जाता है की “भाई अगर तुम लक्ष्यों के लिए अपनी खुशी को कल पर टालते रहोगे तो तुम्हारी जिंदगी का 99% हिस्सा इंतजार मे ही बीत जाएगा” तब वो कहते है, “लेकिन मेरे वर्तमान मे दुख ही दुख है, मै जब भविष्य की ओर देखता हू तो मुझे लगता है की किसी दिन सब ढीक हो जाएगा और मै सफल बन जाऊगा” लेकिन मेरे दोस्त जब वो भविष्य आएगा तो भी तो वर्तमान बन कर ही आएगा, वो भविष्य का वर्तमान होगा, जब तुम आज दुखी जीवन जीयोगे तो कल सुखी जीवन कैसे व्यतीत कर लोगे ।

तुम्हारे भविष्य का निर्माण आज ही हो रहा है । जो फूल भविष्य मे खिलेंगे उनकी कलियां आज ही तैयार हो रही है, और मत भूलों तुमने अतीत मे इस वर्तमान के लिए भी सपने देखेते वो भी तो पुरे नही हो पाए और तुम दोबारा उसी गलती को कर रहे हो | मै ये नही कह रहा की सपने देखना और लक्ष्य बनाना गलत है

लेकिन अगर तुम इसी तरह लक्ष्यों के लिए अपनी खुशी कल पर टालते रहोगे तो कभी खुश नही रह पाओगे | जब आप बूढे हो जाएगे और किसी शाम बिस्तर पर पढे हुए अपनी आखरी साँसे गिन रहे होंगे तब आपको पता चलेगे की आपने कितना समय केवल इन्तेजार करने मे बिता दिया | लेकिन जब आपको दूसरा मौका इसलिए मेरे दोस्त वक्त रहते आँखें खोल लो और वर्तमान में जीना सीखो क्योकि हमारे पास जिने के लिए केवल वर्तमान ही होता है ।

*. 5~ ध्यान करिये *

हम अक्सर अपने विचारों की दुनिया मे ही खोए रहते है । जब कोई खुश रहने का पल आता है तब हम अपने विचारों मे घो जाते है अगर आपको दिमागी शांती चाहिए और खुशी चाहिए तो प्रतिदिन ध्यान ( Meditation ) करने की आदत डालनी चाहिए

इससे आप विचारो को भी काबू कर पाएगे अगर आपको फालतू के विचारों को काबू करने मे मुश्कि हो रही है या वर्तमान मे जीना मुश्किल हो रहा है तो आपको power of now नाम की किताब पढ़नी है चाहिए | इस किताब ने मेरी पूरी जिदगी बदल दी मुझे उम्मीद है की ये आपकी भी बदल देगी

इस किताब की दुनिया भर मे 50 भाषाओ मे 50 लाख कॉपियां बिक चुकी है । अगर आप पुरे आर्टिकल मे से केवल मेरी इसी सलाह को मान लेते है तो आपको खुश रहने के लिए किसी और चीज की जरूरत नही पडेगी । इस किताब को पढने के बाद आप खुद यहां आकर मुझे Thank You बोलेगे ।

*. 6~ सही स्त्रोत से खुशी लिजिए *

कुछ लोग खुश रहने का दूसरा मतलब निकाल लेते है आपको खुश रहने के लिए इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की आपकी खुशी किस स्त्रोत से आ रही है जैसे- अगले महीने आपका Exam है आपको पता है की आपको पढ़ना चाहिए लेकिन पढ़ने सेे आपको थोडा मानसिक दर्द झेलना पडेगा लेकिन दोस्तों के साथ फिल्म देखने से खुशी मिलेगी तो अगर आप फिल्म को चुनते है तो भविष्य मे दुख आपका दामन धाम लेगा | इसलिए सही स्त्रोत ( Source ) से खुशी लिजिए |

*. 7~ ज्यादा नियंत्रण यानि ज्यादा खुशी *

50 साल की रीसर्च के बाद कई मनोविज्ञानिकों ने ये नतीजा निकाला की जो लोग खुदकों जितना ज्यादा काबू ( Control ) मे महसूस करते है वो उतना ही खुश रहते हैं ।

For example अपने खुदसे वादा किया की मे अगले तीस दिन तक डेली 30 मिनट के लिए अच्छी किताबें पढूगा तो अगर आपने इस वादे को पूरा किया तो आपकी खुशी का लेवल ( Level of happiness ) बढ़ जाएगा और आपका खुदके प्रति आत्मविश्वास ( Confidence ) भी बढ़ेगा |

लेकिन अगर आप खुदसे वादा पूरा नही कर पाए तो आपकी खुशी का लेवल कम हो जाएगा और आत्मविश्वास भी कम हो जाएगा इसलिए खुदसे किये गए वादों को जरूर पूरा करें ।

*. 8~ हर समय खुश रहने की कोशिश न करें *

ये जिदंगी का एक कढ़वा सच है लेकिन इसे आप जितनी जल्दी स्वीकार कर लेंगे उतना ही अच्छा रहेगा आप हर समय खुश नही रह सकते, जीवन मे कुछ ऐसी परिस्थितीयां भी आएगी जब आप चहा कर भी खुश नही रह सकते उस समय जैसा चल रहा है वैसा ही चलने दें लेकिन कुछ समय बाद दोबारा नियंत्रण अपने हाथ मे ले लें |

*. 9~ कुछ मज़ेदार चीजें करिये *

एक समय पर आकर हमारी लाइफ थोडी बोरिंग सी हो जाती है अगर उस समय कुछ हटके न किया जाए तो जीने मे मज़ा नही आता आपको भी अपनी लाइफ मे नई-नई चीजें Try करनी चाहिए जो थोडी Refreshing हों जैसे- नई जगह घूमना, कोई नई Skill सीखना |

*. 10~ उन लोगो की मदद करिये जो आपको कुछ नही दे सकते *

बेसहारों की मदद करना इंसानीयत का सबसे बड़ा गुण है। जो लोग दूसरों की मदद करने वाले होते है वो आम लोगो से ज्यादा खुश रहते है अपने भी महसूस किया होगा की जब हम किसी की मदद करते है तो हमें खुदके प्रति बहुत अच्छा महसूस होता है | इसलिए दिन मे किसी एक ऐसे व्यक्ति की मदद जरूर करें जो आपको बदले मे कुछ नही दे सकता ।

*. 11~ अच्छा स्वास्थ्य है खुशी की गारंटी *

अक्सर लोग दौलत कमाने के लिए अपनी सेहत को नज़रअंदाज कर देते है जिसके बाद सेहत उनका साथ छोड़ देती है । फिर वो लोग सेहत कमाने के लिए दौलत गवा देते है जिसके कारण उनके पास न तो दौलत रहती है और न ही सेहत | इसलिए अपनी सेहत और दौलत मे बैलेंस करिये | क्योकि जब आपका शरीर स्वास्थ होगा तभी आप दौलत से खुशी उठा पाएगे ।

*. 12~ अपने रिश्तो को मेन्टेन रखिये *

दुनिया के सबसे बड़े आत्म-सुधार ( Self development ) गुरूओ मे से एक ब्रेन ट्रेसी अपनी किताब Power of self-discipline मे एक स्टाडी के बारे मे बताते है जिसके अनुसार हमारी 85 प्रतिशत खुशी अच्छे रिश्तों से आती है । जबकी केवल 15 प्रतिशत खुशी ही Achievements से आती है ।

क्योकि इंसान एक समाजिक प्राणी है इसलिए किसी भी प्रकार के खराब रिश्ते हमारी लाइफ मे एक बड़े दनाव का कारण बन सकते है | कुछ लोगो को ये भी भ्रम होता है की वो बिना Girlfriend या Boyfriend के खुश नही रह सकते जो की एकदम सफेद छूट है । दुनिया है के सबसे बडे़ बौध्द गुरू दलाई इलामा पिछले 70-80 कुवाँरे है जबकि कई मनोविज्ञानिक बताते है उनकी खुशी का लेवल आम लोगो से बहुत ज्यादा है । इसलिए अपने रिश्ते अच्छे रखिये और फालतू के रिश्तो मे मत पडिये

*. 13~ उस काम को करिये जो आप पसंद करते हों *

हमारी जिंदगी का बहुच बड़ा हिस्सा काम करते हुए बितता है अगर वो काम ही कष्टदायक हो तो जीवन से दुख कभी खत्म नही हो सकता । होता क्या है की लोग अपने माता-पिता के दबाव या पैसों के लालच मे आकर करियर चुनते है बाद मे जाकर उन्हे पता चलता है इस काम को वो करना ही नही चहाते | उन्हे पैसा तो खूब मिल जाता है लेकिन अपने काम से खुशी नही मिलती जिसके कारण उनके अवसर सीमित रह जाते है ।

*. 14~ Hobbies बनाईये *

Hobbies रजनात्मकता व्यक्त करने का सबसे अच्छा तरीका, जब हम खुदके दम पर किसी Creative काम को करते है तो इससे अन्दर एक संतुष्टि पैदा होती है जो खुशी उत्पन्न करता है । लेकिन आज अधिकतर लोग T.V, Mobile और Movies मे अपना समय वर्बाद करते है जिससे लोगो के पास Hobbies को करने का समय ही नही बचता । अगर आपको खुदको रचनात्मक और खुश बनाना है तो Hobbies करने मे भी थोडा समय बिताए |

*. 15~ वित्तीय आजादी हासिल किजिए *

पैसे से कभी खुशियां नही खरीदी जा सकती, लेकिन पैसो की कमी भी इंसान को बड़ी मात्रा मे मानसिक तनाव और दुख दे सकती है । अधिकतर लोग पैसे को बूरा मानते है उनके अनुसार पैसे वाले लोग पत्थर दिल के होते, अमीर निर्दय होते है या हर बड़ी दौलत के पीछे कोई जुर्म होता है ।

देखिये पैसा कोई बुरी चीज नही है ये तो इंसान का नज़ारिया होता है जो पैसे को अच्छा या बुरा बनाता है जिस तरह आग से घर मे उजाला किया जा सकता है या फिर पुरे घर को ही जलाया जा सकता है उसी तरह पैसे की शक्ति होती है अगर ये गलत हाथों मे पहुच जाए तो विनाशकारी होता है लेकिन अगर सही हाथों मे पहुच जाए तो पुरे सामाज की तस्वीर बदल सकता है ।

इसलिए आपको अपने जीवन मे वित्तीय आजादी ( Financial freedom ) का लक्ष्य जरूर बनाना चाहिए |

निष्कर्ष

खुश रहने के लिए सबसे पहले अपने मन से दुख को निकाल दिजिए, और Happiness पर फोकस करिये । ईश्वर को उन चीजों के प्रति एहसान व्यक्त किजिए जिसके लिए आप एहसान मंद है । वर्तमान को अपनी जीवन का मुख्य केन्द्र रखिये, उन विचारों से भी खुदको आजाद करिये जो आपको नकारात्मक बनाते है इसके लिए आप मेडिटेशन कर सकते हैं । सही स्त्रोत से खुशीयां लिजिए और खुद पर काबू रखिये |

बुरी परिस्थियो को भी स्वीकार करिये क्योकि आप हर समय खुश नही रह सकते लाइफ से बोरियत दूर करने के लिए कुछ मजेदार चीजें Try करिये और उन लोगो की मदद करिये जो आपको बदले मे कुछ नही दे सकते | स्वास्थ्य ही सुखी जीवन की आधार है इसलिए अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें उन रिश्तों से दूरी बना लें जो आपको दूख देते है तथा उन रिश्तो का ख्याल रखिये जो आपके जीवन मे खुशी का संचार करते हैं |

काम करते हुए हमारी जीवन का बहुत बड़ा हिस्सा बीतता है इसलिए उसी काम को करें जिसे करने से आपको खुशी मिलती है । Hobbies रचनात्मकता व्यक्त करने का सबसे अच्छा तरीका है इससे आपको खुदके प्रति अच्छा महसूस भी होगा इसलिए थोडा समय Hobbies को करने मे Spend करें और जीवन मे वित्तीय आजादी ( Financial freedom ) हासिल करना का लक्ष्य बनाईये |

Leave a Comment