परिंदे सुबह-सुबह क्यों गाते हैं । परिंदे सुबह-सुबह क्यों आवाज करते हैं ।

परिंदे सुबह-सुबह क्यों गाते हैं । परिंदे सुबह-सुबह क्यों आवाज करते हैं ।

आपने बहुत सारे ऐसे उड़ने वाले जानवरों को देखा होगा तो सुबह-सुबह आप को आवाज करते हुए पाए गए होंगे | आपने अपने आसपास स्थित किसी भी चिड़िया को देखा होगा |

क्योंकि सुबह चाहे चाहट करती हुई मिल जाती है | इसके अलावा बहुत सारे ऐसे पक्षी होते हैं जो कि सुबह-सुबह चह चाहट करते हैं ।

पक्षी सुबह-सुबह चह चाहट क्यों करते हैं ?

इसके पीछे क्या कारण हो सकता है | पक्षी सुबह-सुबह चह चाहट क्यों करते हैं । इसका पता वैज्ञानिकों ने लगाया और उन्होंने पाया कि इसके पीछे भी कोई कारण छुपा हुआ है । पक्षी बिना किसी कारण के ही चह चाहट नहीं करते हैं ।

वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च में पाया गया कि बहुत सारे पक्षी अपनी मादा प्रेमिका को पटाने के लिए सुबह-सुबह अलग अलग तरह की आवाजें निकालते हैं ।

उन्हें पटाने की कोशिश करते हैं । वह मादा को आकर्षित करके अपने बच्चे पैदा कर सकें । इसके लिए वह ऐसा करते हैं । चिड़ियों में खुद को हार्मोनआइज करने का हुनर पाया जाता है ।

चिड़िया में कितने वॉयस बॉक्स पाए जाते हैं ?

इंसानों में एक ही वॉयसबॉक्स पाया जाता है । जबकि चिड़िया में दो वॉयसबॉक्स पाए जाते हैं । जिसकी बदौलत वह दो तरह की अलग-अलग साउंड को निकालने में सक्षम होती है । यानी की चिड़िया 2 3 साउंड एक साथ निकाल सकती है |

जैसे ही हवा इनके फेफड़ों से बाहर निकलती है तो हवा इनके वॉइस के एक खास हिस्से से टकराती है और आवाज निकलती है ।

जिसकी बदौलत वह दो स्वर की ध्वनि एक साथ उत्पन्न कर सकती है । क्योंकि इनके दो वॉयसबॉक्स होते हैं । हवा इनके दोनों वॉइस बॉक्स से टकराती है और दो-तीन की ध्वनि उत्पन्न होती है ।

चिड़िया अपने दमदार फेफड़ों की वजह से 20 मिनट तक बिना रुके आवाज निकाल सकती है ।

हर प्रजाति के जीव की अपनी एक अलग ही आवाज होती है तथा इलाके के अनुसार उसकी आवाज में भी बदलाव आता है ।

यदि नर चिड़िया ने गाने के सारे पेचीदा मसले को हल कर दिया तो वह मादा चिड़िया को ले जाने में सक्षम हो जाएंगे ।